Vidisha Maitra ने पाकिस्तान के PM इमरान खान के बयाना के बाद कही ये बात !

Vidisha Maitra said at UNGA, only pakistan gives pension to terrorist an support them
Vidisha Maitra said at UNGA, only pakistan gives pension to terrorist an support them

अमेरिका के न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में विदिशा मैत्रा (Vidisha Maitra) ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भाषण पर दिया करारा जवाब, इमरान खान ने अपने भाषण में भारत के खिलाफ गलत और मनगढ़त छवि पेश करने की पूरी कोशिश की। लेकिन इसका जवाब आज विदेश मंत्रालय की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने दिया।

विदिशा मैत्रा (Vidisha Maitra) ने कहा कि इमरान खान का भाषण नफरत से भरा है और वो दुनिया गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। ‘राइट टू रिप्लाई’ के लिए यूएन में भारत मिशन की सबसे जूनियर सदस्य को चुनने के पीछे भारत सरकार का उद्देश्य से जताना था कि वह इमरान खान के भाषणों को ज्यादा तवज्जो नहीं दे रहा है।

मैत्रा ने UNGA में उठाये कई मुद्दे !

विदिशा मैत्रा (Vidisha Maitra) ने बताया की पाकिस्तान ने खुलेआम वैश्विक आतंकी ओसामा बिन लादेन का बचाव किया था और उनका परमाणु को लेकर दिया गया बयान गैर जिम्मेदाराना है। इमरान खान ने कश्मीर राग अलापते हुए कहा था कि हमारे पास हथियारों को उठाने या परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने के अलावा कोई चारा नहीं रह जाएगा।

मैत्रा ने कहा, ‘मानवाधिकार की बात करने वाले पाकिस्तान को सबसे पहले पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की हालत देखनी चाहिए जिनकी संख्या 23 प्रतिशत से 3 प्रतिशत पर पहुंच गई है।

वहां ईसाई, सिख, अहमदिया, हिंदू, शिया, पश्तून, सिंधी और बलोच पर सख्त ईशनिंदा कानून लागू किए जाते हैं, उनका उत्पीड़न और जबरन धर्मांतरण किया जाता है। पाकिस्तान को इतिहास नहीं भूलना चाहिए और याद रखना चाहिए कि 1971 में उसने अपने ही लोगों का नरसंहार किया था।’

पाकिस्तान आतंकवाद को पैदा करने वाला इकलौता देश !

विदेश मंत्रालय की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा (Vidisha Maitra) ने बताया ‘बंदूके उठा लेना मध्यकालीन मानसिकता को दिखाता है न की 21वीं सदी की। कभी क्रिकेटर रहे इमरान खान जो जेंटलमैन के गेम की बात करते थे, आज बंदूकें उठाने और युद्ध की बात करते हैं।

भारत के नागरिक नहीं चाहते कि कोई और उनकी तरफ से बोले। खासतौर से वह जिसने नफरत की सोच के साथ आतंकवाद की इंडस्ट्री बनाई है। ऐसा देश जो आतंकवाद और नफरत को मुख्यधारा में शामिल कर चुका है वो अब मानवाधिकारों का चैम्पियन बनकर अपने वाइल्डकार्ड इस्तेमाल करना चाहता है।’

UNGA में PM मोदी ने कहीं थी ये बातें !

PM मोदी ने अपने भाषण में की शुरुवात महात्मा गाँधी का नाम से की उन्होंने कहा की भारत ने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिए है, उसके बाद पाकिस्तान पर भी निशान साधते हुए कहा की हमने पूरी दुनिया को आतंकवाद के खिलाफ हमेशा सतर्क किया है और साथ ही आतंकवाद के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया है।

अपने भाषण में उन्होंने भारत की संस्कृति का भी जिक्र करते हुए कहा की भारत की संस्कृति से दुनिया को जीने का तरीका सीखने का भी संदेश मिलता है। PM मोदी ने कहा कि भारत हजारों साल पुरानी महान संस्कृति है, जिसकी अपनी परंपराएं हैं।

Facebook Comments