Amit Shah ने रखा बड़ा प्रस्ताव बोले, देश में एक ही पहचान पत्र होना चाहिए !

Amit Shah says only one identity use as multipurpose card no passport no adhaar
Amit Shah says only one identity use as multipurpose card no passport no adhaar

गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने आज जनगणना के मुद्दे पर लोगो को जागरक करने की कोशिश करते हुए कहा की पुरे देश में पहचान पत्र होना चाहिए। अब आप ये सोच रहे होंगे की इसका क्या मतलब है ? इसका सीधा मतलब यह है, अब आप को एक साथ सारे चीजे जैसे की पासपोर्ट, ड्राइविंग

हाल ही गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कुछ राज्यों में NRC लागु करने के लिए प्रस्ताव रखा है तब से देश में इस मुद्दे पर सियासत गरमाई हुई है, वही जहां कई विपक्षी दाल NRC का विरोध कर रहे है तो कुछ दल ऐसे है जो इसका समर्थन भी कर रहे है।

लेकिन अब अमित शाह (Amit Shah) ने देश में सभी कार्यों के लिए एक कार्ड की वकालत के साथ ही कहा कि 2021 में होने वाली जनगणना मोबाइल ऐप के जरिये की जाएगी। उन्होंने कहा, ‘आधार, पासपोर्ट, बैंक खाते, ड्राइविंग लाइसेंस, और वोटर कार्ड जैसी सभी सुविधाओं के लिए एक ही कार्ड हो सकता है और इसकी संभावनाएं हैं।’

गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने आगे कहा, ‘एक ऐसा सिस्‍टम भी होना चाहिए, जिससे अगर किसी शख्‍स की मौत हो जाती है तो ऑटोमेटिक उसकी जानकारी  पॉपुलेशन डाटा में अपडेट हो जाए।’ उन्होंने कहा, हम एक ऐसा कार्ड चाहते हैं, जो सभी की जरूरतें जैसे, आधार, पासपोर्ट, बैंक अकाउंट, ड्राइविंग लाइसेंस और वोटर आईडी की जरूरत को पूरा करे।’

केंद्र सरकार का कहना है की ‘एक ऐसा सिस्‍टम होना चाहिए, जिससे अगर किसी शख्‍स की मौत हो जाती है तो ऑटोमेटिक उसकी जानकारी  पॉपुलेशन डाटा में अपडेट हो जाए’ और उन्होंने कहा, हम एक ऐसा कार्ड चाहते हैं जो सभी की जरूरतें जैसे, आधार, पासपोर्ट, बैंक अकाउंट, ड्राइविंग लाइसेंस और वोटर आईडी की जरूरत को पूरा करे.’

वही गृहमंत्री ने विपक्ष को विरोध करने का एक और मौका दिया है, वैसे भी विपक्ष को तो मौके की तलाश होती है। अब देखना ये है की जनगणना वाली पालिसी से जनता को कितना फायदा पहुँचता है।

Facebook Comments