Swami Chinmayanand को जेल में रात काटना पड़ा भारी, 13 दिन अभी-भी बाकि !

Swami Chinmayanand had to spend the night in jail, 13 days still left
Swami Chinmayanand had to spend the night in jail, 13 days still left

शाहजहांपुर (Shahjahanpur) के एसएस लॉ कॉलेज (SS Law College) की छात्रा से रेप और यौन शोषण मामले में गिरफ्तार पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) को कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) को जिला कारागार में सामान्य कैदियों की तरह बैरक में रख गया। वहीं उन्होंने दोपहर और शाम को सामान्य भोजन ग्रहण किया। आपको बता दें की उन्हें सामान्य बंदियों के बीच सुरक्षा की दृष्टि से अलग बैरक में रखा गया है। पहली रात उनको ठीक से नींद नहीं आई, जेल सूत्रों के अनुसार वह जेल में गुमसुम बैठे रहे।

वही आगे जेल सूत्रों ने बताया की स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) की जेल में पहली रात मुश्किलों भरी कटी और उन्हें देर रात तक नींद नहीं आई और वह करवटें बदलते रहे।

दरअसल इससे पहले पुलिस ने चिन्मयानंद के खिलाफ दर्ज केस में रेप की धारा जोड़ी और स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (SIT) ने बीजेपी नेता स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) को कल उनके आश्रम से गिरफ्तार किया था। इसके बाद उनका मेडिकल टेस्ट कराकर एसआईटी ने उन्हें कोर्ट में पेश किया।

उधर चिन्मयानंद की वकील पूजा सिंह ने बताया कि चिन्मयानंद को घर से ही गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि एसआईटी की ओर से अभी तक एफआईआर की कॉपी या फिर अन्य कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। वकील ने बताया कि एसआईटी की ओर से उनके एक परिजन से अरेस्ट मेमो पर साइन कराया गया था, जिसके बाद गिरफ्तारी हुई।

पिछले दिनों पीड़ित छात्रा का 164 के तहत कलमबंद बयान दर्ज करवाया गया था और उसके बाद से ही पीड़िता आरोपी चिन्मयानंद के खिलाफ रेप का केस दर्ज करने और उसकी गिरफ्तारी की मांग कर रही थी।

जिसके बाद पीड़िता ने चिन्मयानंद की गिरफ्तारी न होने की सूरत में आत्मदाह की धमकी दी थी। शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज से एलएलएम की पढ़ाई कर रही छात्रा ने बीते 24 अगस्त को फेसबुक पर एक वीडियो वायरल कर पूर्व केंद्रीय मंत्री पर यौन शोषण का गंभीर आरोप लगाया था। इसके बाद अचानक वो लापता हो गई थी, जिसके बाद उसके अपहरण का मामला दर्ज हुआ था।

Facebook Comments