Chadrayaan 2 से संपर्क साधने में जुटे ISRO के वैज्ञानिक, क्या होगा मिशन पूरा !

ISRO scientist will re-establishing commumnication with chandrayaan 2 lander vikram-
ISRO scientist will re-establishing commumnication with chandrayaan 2 lander vikram-

भारत के लिए चंद्रयान 2 (Chadrayaan 2) का मिशन पूरा करना बहुत अहम माना जा रहा है, वही इसरो (ISRO) अभी भी तमाम कोशिशों में जुटा है की चंद्रयान 2 से संपर्क हो जाए। अगर ऐसा होता है तो इसे इसरो (ISRO) के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि माना जाएगा और नासा (NASA) भी खुद भारत के इस मिशन पर नज़र बनाए हुए है।

चंद्रयान 2 (Chadrayaan 2) का चाँद पर लैंड करने से पहले संपर्क टूट गया था, जिसके बाद इसरो (ISRO) वैज्ञानिको में निराशा सी छा गई थी। लीकन उसके अगले ही दिन उसने चाँद की एक तस्वीर भेज कर इसरो वैज्ञानिको की उम्मीद को एक बार फिर जगा दिया है, जिसके बाद सारे वैज्ञानिक लगातार अपनी पूरी कोशिश में लगे है।

आपको बता दें की विक्रम लैंडर अपने तय स्थान से करीब 500 मीटर दूर चांद की जमीन पर गिरा पड़ा है लेकिन अगर उससे संपर्क स्थापित हो जाए तो वह वापस अपने पैरों पर खड़ा हो सकता है।

इसरो (ISRO) के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक चंद्रयान-2 (Chadrayaan 2) के विक्रम लैंडर में वह टेक्नोलॉजी है कि वह गिरने के बाद भी खुद को खड़ा कर सकता है, लेकिन उसके लिए जरूरी है कि उसके कम्युनिकेशन सिस्टम से संपर्क हो जाए और उसे कमांड रिसीव हो सके।

जैसा की आपको मलूम है की चंद्रयान 2 की लैंडिंग देखने खुद PM मोदी भी इसरो (ISRO) सेंटर पहुंचे थे साथ ही उन्होंने 70 बच्चों के साथ ये पूरा प्रसारण लाइव देखा था। गौतलब है की अभी भी ये मिशन नाकामियाब नहीं हुआ है।

PM मोदी ने 70 बच्चो साथ देखा था लाइव प्रसारण !

वही इस मिशन के बाद इसरो (ISRO) सेंटर से ही PM मोदी ने वैज्ञानिकों समेत पुरे देश को सम्बोधित किया था और वैज्ञानिकों के इस काम की सराहना करते हुए उनका हौसला बढ़ाया था और कहा था की हमारे “वैज्ञानिक मक्खन पर लकीर खींचने वाले नहीं बल्कि पत्थर पर लकीर खींचने वालो में से हैं

इसरो के पास बचे है 12 दिन !

इसरो प्रमुख के. सिवन ने कल मीडिया को बताया था कि इसरो की टीम लैंडर विक्रम से कम्युनिकेशन स्थापित करने की लगातार कोशिश कर रही है और जल्द ही संपर्क स्थापित हो जाएगा।

वैज्ञानिकों के मुताबिक उनके पास विक्रम से संपर्क साधने के लिए 12 दिन हैं। क्योंकि अभी लूनर डे चल रहा है, एक लूनर डे धरती के 14 दिनों के बराबर होता है और इसमें से 2 दिन बीत चुके हैं।

Facebook Comments