Pakistan ने, राष्ट्रपति Kovind को अपने वायुक्षेत्र से गुजरने से किया इंकार !

pakistan denies indian presidents Kovind request to use its airspace for visits
pakistan denies indian presidents Kovind request to use its airspace for visits

कश्मीर पर बौखलाए पाकिस्तान (Pakistan) ने एक और नया पैंतरा चला है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने आज कहा कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) की आइसलैंड की यात्रा के लिए उनके हवाई क्षेत्र से विमान को गुजरने देने संबंधी भारत के अनुरोध को अस्वीकार कर दिया गया है।

राष्ट्रपति कोविंद (Ramnath Kovind) को 9 सितम्बर आइसलैंड, स्विट्जरलैंड और स्लोवेनिया की यात्रा शुरू होगी। इस दौरान वह भारत की ‘राष्ट्रीय चिंताओं’ से इन देशों के शीर्ष नेतृत्व को अवगत करा सकते हैं। मंत्री ने सरकारी प्रसारक पीटीवी को बताया कि कश्मीर में तनावपूर्ण स्थिति के मद्देनजर प्रधानमंत्री इमरान खान ने यह निर्णय लिया है।

कश्मीर में पुलवामा आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने पर भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी शिविरों को नष्ट किया था, जिसके बाद पाकिस्तान ने 26 फरवरी को अपने हवाई क्षेत्र को पूरी तरह से बंद कर दिया था।

हालांकि मार्च में उसने अपने हवाई क्षेत्र को आंशिक रूप से खोल दिया था लेकिन भारतीय उड़ानों के लिए इसे प्रतिबंधित रखा था।

हाल ही में भारत के चंद्रयान 2 पर पाकिस्तान ने जमकर भारत की आलोचना की और सोशल मीडिया में हैश टैग के साथ चंद्रयान 2 पर तरह तरह की मजाक बना सोशल मीडिया पर शेयर भी किया।
इतना ही नहीं पाक के मंत्री फवाद चौधरी ने चंद्रयान-2 (Chandrayaan 2) को लेकर भारत पर तंज कसा, लेकिन वैज्ञानिक दोबारा संपर्क साधने में जुटे हुए हैं। आपको बता दें की पाकिस्तान (Pakistan) के लोग मिशन चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2) को लेकर सोशल मीडिया पर तरह तरह के मजाक बनाने लगे। पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने ट्वीट कर बेहूदा टिप्पणी कर अपनी बौखलाहट दिखाई है।

अमित शाह समेत कई बड़े नेताओ ने बढ़ाया हौसला !

चंद्रयान-2 को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए लिखा- ‘चंद्रयान-2 को लेकर अभी तक की इसरो की उपलब्धि पर प्रत्येक भारतीय को गर्व है। भारत हमारे प्रतिबद्ध और कठिन मेहनत करने वाले इसरो के वैज्ञानिकों के साथ है, भविष्य की यात्रा के लिए मेरी शुभकामनाएं’।

राष्ट्रपति ने भी बढ़ाया वैज्ञानिकों का मनोबल

भले ही चंद्रयान-2 के लैंडर की लैंडिंग से पहले ही इसरो का संपर्क उससे टूट गया, लेकिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इसरो की टीम को बधाई देते हुए ट्वीट किया- ‘चंद्रयान-2 मिशन को लेकर इसरो की टीम ने अनुकरणीय प्रतिबद्धता और साहस दिखाई। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, “देश को इसरो पर गर्व है. हम सभी बेहतर की उम्मीद करते हैं”।

Facebook Comments