Unnao Rape Case में सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती,CBI से दो हफ्ते में मांगी रिपोर्ट !

Unnao gangrape supreme court said two weeks to cbi in accident case
Unnao gangrape supreme court said two weeks to cbi in accident case

उन्नाव रपे केस (Unnao Rape Case) में सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती दिखते हुए सीबीआई (CBI) को मात्र दो हफ्ते में रिपोर्ट सौपने के आदेश दिए है। इस मामले के मुख्य आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर और चार अन्य आरोपी अभी जेल में है।

आज अदालत ने उन्नाव रपे केस (Unnao Rape Case) में सीबीआई (CBI) को सख्त निर्देश देते हुए कहा है की वो दो हफ्ते में केस की जांच पूरी करे। आपको बता दें की इसके अलावा एम्स अस्पताल (AIIMS) में ही पीड़िता के लिए स्पेशल कोर्ट भी लगाई जा सकती है।

दरअसल, स्पेशल जज ने पीड़िता की जांच के लिए एम्स में कोर्ट लगाने की गुजारिश की थी, अब सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाईकोर्ट से जल्द इसपर फैसला लेने को कहा है। वही इस मामले में बीजेपी ने अपने नेता को जब तक पार्टी से बर्खास्त नहीं किया था जब पूरा विपक्ष उस पर हमलावर नहीं हुआ था।

वही प्रियंका गाँधी ने भी इस मामले पर खूब राजनीति करने की कोशिश की थी, और प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर आरोप लगाए थे, जिसके बाद उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को रातो-रात गोवा से बुलाकर बीजेपी MLA कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से निकला गया था।

बताते चले कि उन्नाव रेप पीड़िता का दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा है, पीड़िता के वकील की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। सीबीआई ने सड़क हादसे वाली घटना में पीड़िता का बयान भी दर्ज कर लिया है और उस बयान में पीड़िता ने हादसे को उसके परिवार के खिलाफ एक साजिश बताया है।

दरअसल 28 जुलाई को उन्नाव से लौटते वक़्त पीड़िता की कार को सामने से आ रहे एक ट्रक ने जोर दर टक्कर मर दी थी, इस हादसे में पीड़िता के रिश्तेदारों की तो मौत हो गई, जबकि वकील गंभीर रूप से घयल हो गए थे।

क्या है उन्नाव रेप मामला ?

उत्तर प्रदेश राज्य के उन्नाव शहर में 4 जून 2017 को 17 वर्षीय लड़की का कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया था, जिस के बाद इस मामले में अब तक दो अलग-अलग आरोप पत्र दायर किए गए हैं। पहले आरोप-पत्र केंद्रीय जांच ब्यूरो ने 11 जुलाई 2018 को उत्तर प्रदेश से बीजेपी नेता कुलदीप सिंह सेंगर के नाम पर दायर किया गया।

वही दूसरा आरोप पत्र 13 जुलाई 2018 को कुलदीप सिंह सेंगर और उनके भाई, तीन पुलिसकर्मियों और पाँच अन्य लोगों पर बलात्कार पीड़ित लड़की के पिता को दोषी बताने के लिए दायर किया गया था।

Facebook Comments