Pakistan की निकली सारी अकड़, Bharat से फिर लेने लगा जीवनरक्षक दवाए !

Pakistan again ask and came out, took life-saving medicine from India
Pakistan again ask and came out, took life-saving medicine from India

पाकिस्तान (Pakistan) चाहे जितनी अकड़ क्यों न दिखा ले, आखिर में उसे भारत (Bharat) से मदद लेनी ही पड़ी, जैसा की आपको मालूम है की केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देते हुए अनुच्छेद 370 और 35A को ख़त्म कर दिया है, जिसके बाद बौखलाए पाक ने भारत के साथ सभी व्यपार बंद करने का फैसला लिया था।

जिसका बाद पाक पर अब इसका सीधा असर पड़ने लगा है, कश्मीर मुद्दे को लेकर पिछले महीने पाकिस्तान (Pakistan) ने भारत (Bharat) के साथ व्यापारिक संबंधों को निलंबित कर दिया था।

आपको बता दें की आज ही पाक ने जीवन रक्षक दवाओं की कमी के चलते भारत के साथ आंशिक व्यापार बहाल कर दिया है और भारत से दवाओं के आयात को मंजूरी दे दी है। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान के वाणिज्य मंत्रालय ने इसे लेकर एक वैधानिक आदेश जारी किया है, जिसमें भारत से दवाओं के आयात-निर्यात की मंजूरी प्रदान की गई है।

पाक PM इमरान खान के बदले तेवर !

भारत के तीखे तेवर देख इमरान खान के ही सुर बदलते हुए नज़र आए उन्होंने कहा कि भारत से तनाव के बीच पाकिस्तान परमाणु हथियारों का पहले इस्तेमाल नहीं करेगा। हालांकि उनके इस बयान पर विश्वास करना थोड़ा मुश्किल है लेकिन जब ये बयान सामने आया तो उसके बाद से ही किसी को भी इमरान के ऊपर विश्वास नहीं हुआ।

पुलवामा हमले के बाद से भारत ने पाक से नहीं की कोई बात !

दरअसल पुलवामा हमले के बाद से ही दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंध तनावपूर्ण बने हुए हैं। इस घटना के बाद भारत ने पाकिस्तान से आयात किए जाने वाले सामान पर 200 फीसदी का सीमाशुल्क लगा दिया था। पाक ने पिछले 16 महीनों में भारत से 3.6 करोड़ अमेरिकी डॉलर से अधिक मूल्य के रेबीज-रोधी और जहर-रोधी वैक्सीन आयात किए हैं।

भारत-पाक के बीच इन चीजों का होता था आयात-निर्यात !

पाकिस्तान भारत को ताजे फल, खनिज और अयस्क, सीमेंट, तैयार चमड़ा, प्रसंस्कृत खाद्य, अकार्बनिक रसायन, कच्चा कपास, मसाले, ऊन, रबड़ के उत्पाद, अल्कोहल पेय, चिकित्सा उपकरण, समुद्री सामान, प्लास्टिक, डाई और खेल का सामान निर्यात करता था। वहीं, भारत की ओर से पाकिस्तान को जैविक रसायन, कपास, प्लास्टिक उत्पाद, अनाज, चीनी, कॉफी, चाय, लौह और स्टील के सामान, दवा और तांबा आदि उत्पाद निर्यात किया जाता था।

Facebook Comments