जम्मू-कश्मीर जाने के लिए फ्लाइट में सवार हुए Rahul Gandhi और उनके नेता !

Rahul Gandhi and his leaders boarded a flight to go to Jammu and Kashmir
Rahul Gandhi and his leaders boarded a flight to go to Jammu and KashmirRahul Gandhi and his leaders boarded a flight to go to Jammu and Kashmir

आपको बता दें की राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के नेतृत्व में विभिन्न विपक्षी दलों के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल जम्मू-कश्मीर के लोगों से मिलने के लिए श्रीनगर रवाना हो

इस बीच, जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने विपक्षी नेताओं से न आने और शांति व्यवस्था बनाने में मदद करने को कहा है। दरअसल केंद्र सरकार ने पाकिस्तान की तो नाक दम कर ही रखा है, साथ ही कांग्रेस के भ्रष्ट नेताओं को भी नहीं छोड़ा अब आप समाज ही गए होंगे की यहाँ किस का जिक्र होने वाला है। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम का, वैसे मोदीसरकार ने विपक्ष को सावला उठाने के लिए कई मुद्दे दिए लेकिन उन्हें किसी मुद्दों पर टिकने नहीं दिया।

बड़ी ही शातिराना अंदाज़ में मोदी सरकार ने नीतियों पर काम किया, यहाँ हम बात कर रहे है मोदी सरकार के कुछ एहम फैसले जैसे तीन तलक, धारा 370 और 35A, वही उसके बाद कांग्रेस के कद्दावर नेता के ऊपर चल रही कार्रवाई के पीछे भी कांग्रेस ने मोदी सरकार पर सवाल खड़े किए है।

सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा भी जा रहे हैं। इन नेताओं का दोपहर के समय श्रीनगर पहुंचने का कार्यक्रम है, वहीं जम्मू-कश्मीर सरकार ने शुक्रवार रात बयान जारी कर राजनेताओं से घाटी की यात्रा नहीं करने को कहा, क्योंकि इससे धीरे-धीरे शांति और आम जनजीवन बहाल करने में बाधा पहुंचेगी।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अपने बयान में सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि ऐसे वक्त में जब सरकार राज्य के लोगों को सीमा पार आतंकवाद के खतरे और आतंकवादियों तथा अलगाववादियों के हमलों से बचाने की कोशिश कर रही है।

उपद्रवियों तथा शरारती तत्वों को नियंत्रित करके लोक व्यवस्था बहाल करने की कोशिश कर रही है, तब वरिष्ठ राजनेताओं की ओर से आम जनजीवन को धीरे-धीरे पटरी पर लाने में बाधा डालने की कोशिश नहीं होनी चाहिए।

आपको बता दें की विपक्ष के प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस से राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, माकपा से सीताराम येचुरी, भाकपा के डी. राजा, डीएमके के टी सिवा, राजद के मनोज झा और तृणमूल से दिनेश त्रिवेदी शामिल होंगे। शुक्रवार देर शाम वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने बैठक कर इस मुद्दे पर चर्चा की।

दरअसल मोदी सरकार के इस फैसले के बाद किसी भी नेता को कश्मीर घाटी में आने की अनुमति नहीं दी है। पूर्व CM फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत क्षेत्रीय दलों के नेता भी नजरबंद हैं।

Facebook Comments