आखिर P.Chidambaram को होना पड़ा गिरफ्तार, आज दोपहर कोर्ट में होगी पेशी !

INXmedia case finally P.Chidambaram had to be arrested, will be produced in court this afternoon
INXmedia case finally P.Chidambaram had to be arrested, will be produced in court this afternoon

(INX) आईएनएक्स मीडिया मामले में घिरे वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी.चिदंबरम (P.Chidambaram) को सीबीआई (CBI) ने आखिर गिरफ्तार कर लिया। सीबीआई मुख्यालय में चिदंबरम से अधिकारियों ने पूरी रात पूछताछ की। वहीं आज उन्हें राउज ऐवेन्यू कोर्ट में पेश किया जाएगा।

आपको बता दें की रातभर सीबीआई मुख्यालय में पी. चिदंबरम से पूछताछ की गई,पी. चिदंबरम को आज दोपहर 2 बजे के बाद अदालत में पेश किया जाएगा और चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद सीबीआई उनकी न्यायिक हिरासत की मांग भी करेगी, वही थोड़ी देर में कांग्रेस करेगी प्रेस कॉफ्रेंस।

सीबीआई मुख्यालय में कटी रात !

सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक पूछताछ के दौरान चिदंबरम को डिनर दिया गया, लेकिन उन्होंने कुछ भी खाने से इनकार कर दिया। बताया जा रहा है कि सीबीआई ने चिदंबरम से कई सीधे सवाल पूछे।

टीवी चैनलों की रिपोर्ट की मानें तो चिदंबरम ने रात में अकेले डर लगने का हवाला देकर हवालात जाने से इनकार कर दिया जिसके बाद सीबीआई के एक अधिकारी कमरे में उनके साथ रुके रहे। आपको बता दें कि चिदंबरम से सीबीआई की टीम अभी भी पूछताछ कर रही है।

घूस के पैसो से खरीदी थी विदेश में संपत्तियां !

ईडी के जब्ती आदेश के मुताबिक, ईडी चिदंबरम से पूछना चाहता है कि उनके बेटे कार्ति चिदंबरम ने स्पेन में जो टेनिस क्लब, यूके में कॉटेज के साथ-साथ देश-विदेश में कुछ अन्य संपत्तियां खरीदीं, उनके पैसे कहां से आए थे। कार्ति ने ये संपत्तियां 54 करोड़ रुपये में खरीदीं।

ईडी ने अक्तूबर 2018 में एक अटैचमेंट ऑर्डर पास किया था, जिसके मुताबिक ये सारी संपत्तियां आईएनएक्स मीडिया केस में घूस के पैसे से खरीदी गई थीं, चिदंबरम इस केस में अपने बेटे के साथ सह-अभियुक्त हैं।

स्पेन के बार्सिलोना में खरीदी गई जमीन और टेनिस क्लब की कीमत 15 करोड़ रुपये बताई जा रही है। दरअसल ईडी और सीबीआई पिता-पुत्र के खिलाफ आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग केस और एयरसेल-मैक्सिस 2जी स्कैम केस की जांच कर रही है।

आखिर क्या है पी.चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया केस !

सीबीआई द्वारा की 15 मई, 2017 को दर्ज एफआईआर में आरोप है कि 2007 में चिदंबरम के वित्त मंत्री रहने के दौरान विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड ने आईएनएक्स मीडिया समूह को विदेश से 305 करोड़ रुपये की रकम लेने को मंजूरी दी थी।

2018 में इस मामले में ईडी ने भी एफआईआर दर्ज की थी। 3,500 करोड़ रुपये के एयरसेल मैक्सिस सौदे में भी चिदंबरम की भूमिका की जांच की जा रही है। 2006 में मलयेशियाई कंपनी मैक्सिस ने एयरसेल में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल कर ली थी। इस मामले में रजामंदी देने को लेकर चिदंबरम पर अनियमितताएं बरतने का आरोप है।

Facebook Comments