Arun Jaitli की हालत बेहद नाज़ुक वेंटिलेटर ने भी छोड़ा साथ, ECMO पर रखा !

Arun Jaitli is in criticle condition said by AIMS doctors, today home minister also going to aims
Arun Jaitli is in criticle condition said by AIMS doctors, today home minister also going to aims

करीब एक सप्ताह से एम्स में भर्ती भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitli) की हालत अब बेहद नाजुक होती चली जा रही है, वे आईसीयू में भर्ती हैं और उनकी हालत इस वक्त इतनी खराब है कि उन्हें वेंटिलेटर से हटाकर ईसीएमओ(एक्मो) पर रखा गया है।

गौरतलब है कि एक्मो पर मरीज को तभी रखते हैं जब दिल, फेफड़े काम करना बंद कर देते हैं और वेंटीलेटर का भी फायदा नहीं होता। मालूम हो कि उन्हें संक्रमण ने चपेट में ले लिया है। आज सुबह जेटली का हालचाल जानने राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह एम्स पहुंचेंगे, जब की गृहमंत्री अमित शाह भी आज दोबारा जेटली का हाल जानने एम्स जाएंगे।

आपको बता दें की जेटली का इलाज एम्स के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. वीके बहल के अलावा नेफ्रोलॉजी, एंडोक्रॉइनोलॉजी सहित पांच विभागों के वरिष्ठ डॉक्टरों की टीम कर रही है, उन्हें नौ अगस्त की शाम को एम्स में भर्ती कराया गया था उसके अगले ही दिन सुबह उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू जेटली से मिलने लिए पहुंचे थे।

अभी तक बीजेपी के कई नेता भी जेटली का हाल जानने के लिए एम्स पहुंचे थे और कल ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेने और उनके परिजनों से मिलने के लिए एम्स पहुंचे। उनके साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे भी थे। 

दरअसल कल शाम से ही उनकी तबियत में अचानक गिरावट दिखी। उनका उपचार कर रहे एम्स के वरिष्ठ डॉक्टरों ने आनन-फानन में दवाओं की डोज बढ़ाने का फैसला लिया, बताते चले की अरुण जेटली डायबिटीज के मरीज हैं और उनकी किडनी ट्रांसप्लांट हो चुका है, कुछ समय पहले उनकी सॉफ्ट टिशू कैंसर बीमारी के बारे में पता चला था। अभी तक की जानकारी के अनुसार जेटली ने मोटापे से छुटकारा पाने के लिए बैरिएट्रिक सर्जरी भी कराई है।

जेटली के परिजनों के अनुसार, सुबह नाश्ते के वक्त उन्हें अचानक सांस लेने में तकलीफ हुई थी, जिसके बाद एम्स के डॉक्टरों ने आनन-फानन में उन्हें भर्ती करने का फैसला लिया। डॉक्टरों ने अरुण जेटली के स्वास्थ्य को लेकर सोशल मीडिया पर पिछले कई दिन से चल रही खबरों को अफवाह बताते हुए अपील की है कि किसी भी प्रकार की भ्रामक जानकारी पर प्रतिक्रिया न दें।

Facebook Comments