73rd Independence Day, PM मोदी के भाषण की कुछ बड़ी बातें !

आज देश को आजाद हुए पुरे 73 साल हो चुके है और भारत एक नई उच्चाई पर पहुँच चूका है और ये 73 वां स्वतंत्रता दिवस (73rd Independence Day) था, जहां पुरे देशवासी देशभक्ति की भावना में रंगे हुए थे। 
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस समारोह में साफा बांधने की अपनी परंपरा जारी रखी और आज लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए पीले रंग का साफा पहना, जिस पर लाल और हरे रंग की बंधेज वाली पट्टियां बनी हुई थीं। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले के प्रचीर से मोदी का यह लगातार छठा और दोबारा सत्ता में आने के बाद पहला संबोधन था।

आपको बता दें की वर्ष 2015 में वह लाल एवं हरे रंग की पट्टियों वाला साफा पहने नजर आए थे, जबकि 2016 में उन्होंने लाल-गुलाबी-पीले रंग का राजस्थानी साफा पहना था और साल 2017 में प्रधानमंत्री ने क्रीम और पीले-लाल रंग का साफा पहना था।

यहां से उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कई बड़ी बातें कही उन्होंने कहा की ‘हम जिस तरह खेतों में लगातार केमिकल्स-फर्टिलाइजर्स का उपयोग कर रहे हैं, उससे हम धरती मां को तबाह कर रहे हैं। एक संतान के रूप में हमें अपनी धरती मां को बीमार बनाने का हक नहीं है। हमें इनके इस्तेमाल से बचने की जरूरत है, ये भी देश सेवा ही होगी’.

आज लाल किले से PM मोदी ने जनता से पूछा की क्या इस 2 अक्टूबर तक हम भारत को सिंगल यूज़ प्लास्टिक से मुक्ति दिला सकते हैं ? घर हो या बाहर चौराहे पर कहीं भी प्लास्टिक पड़ा हो वो सब इकट्ठा करें और प्लास्टिक को नगरपालिकाओं और महानगरपालिकाओं की सहायता से विदाई देने में अपनी भूमिका निभाएं।

वही उन्होंने धारा 370 और 35A के बारे में भी कुछ बातें कही उन्होंने कहा की “हम समस्याओं को टालते भी नहीं हैं, ना ही समस्याओं को पालते हैं। आर्टिकल 370 और 35(A) से महिलाओं, बच्चों और एससी-एसटी समुदाय के साथ अन्याय हो रहा था। इसलिए जो काम पिछले 70 वर्षों में नहीं किया जा सका, उसे नई सरकार बनने के 70 दिनों में पूरा कर दिया गया”।

वही आगे उन्होंने कहा की लोगों के लिए अपनी जिंदगी जीने अपने लिए निर्णय करने के सारे रास्ते खुले हों। लोग देशहित, परिवार की भलाई, स्वयं के सपनों के लिए आगे बढ़ें, ऐसा ईकोसिस्टम हमको बनाना ही होगा। सरकार का दबाब न हो लेकिन जहां मुसीबत का पल हो तो सरकार का अभाव भी नहीं होना चाहिए और आगे उन्होंने कहा की “मैं लाल किले से घोषणा करता हूं कि अब हम जल जीवन मिशन को लेकर आगे बढेंगे और आने वाले वर्षों में इस मिशन पर साढ़े तीन लाख करोड़ रु खर्च किए जाएंगे”।

Facebook Comments