Satypal Malik बोले, ‘राहुल गाँधी को घाटी का हाल जानना है तो एयरक्राफ्ट भेजदूँगा’

Satypal Malik said, 'If Rahul Gandhi wants to know the condition of the JK, I will send the aircraft'
Satypal Malik said, 'If Rahul Gandhi wants to know the condition of the JK, I will send the aircraft'

जम्मू-कश्मीर के राजयपाल सत्यपाल मलिक (Satypal Malik) ने राहुल गाँधी को करारा जवाब दिया है, राज्यपाल ने सोमवार को यह बयान राहुल गांधी की उस टिप्पणी पर दिया है, जिसमें राहुल ने कहा था कि कश्मीर घाटी में हिंसा की खबरें हैं। 

मलिक ने कहा कि राहुल गांधी को अपने एक नेता के व्यवहार के बारे में शर्मिंदा होना चाहिए जो संसद में मूर्खों की तरह बात कर रहे थे। मैंने राहुल गांधी को यहां आने के लिए आमंत्रित किया है। मैं उन्हें एक विमान भेजूंगा, आप स्थिति का जायजा लें और फिर बोलें।

वही आगे उन्होंने कहा की राहुल एक जिम्मेदार व्यक्ति हैं और उन्हें इस तरह से नहीं बोलना चाहिए, वह कश्मीर में हिंसा के बारे में कुछ नेताओं और मीडिया के बयानों पर रिपोर्टरों के एक सवाल का जवाब दे रहे थे।

राज्यपाल ने कहा कि जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म करने में कोई सांप्रदायिक कोण नहीं था, बल्कि 370 व 35ए का खात्मा करना जम्मू-कश्मीर की पूरी जनता के लिए एक अच्छा कदम था।

मलिक ने विदेशी मीडिया की खबरों को बताया गलत !

मलिक ने कहा कि इस मुद्दे पर विदेशी प्रेस ने गलत रिपोर्टिंग देने का प्रयास किया और हमने उन्हें चेतावनी दी है। आपके लिए सभी अस्पताल खुले हैं और अगर एक भी व्यक्ति गोली से मारा गया है, तो इसे साबित करें। कुछ युवाओं द्वारा हिंसा किए जाने के एक मामले में चार लोगों के पैर में छर्रे लगे हैं और किसी को कोई गंभीर चोट नहीं लगी है।

जम्मू-कश्मीर को एक कंसन्ट्रेशन कैंप (एकाग्रता शिविर) में बदल देने के आरोप का जवाब देते हुए राज्यपाल ने कहा कि पढ़े लिखे होने के बावजूद लोग इन कंसन्ट्रेशन के बारे में नहीं जानते हैं, मुझे पता है ये क्या है ?

मैं 30 बार जेल जा चुका हूं। इसके बावजूद मैं घाटी की कार्रवाई को एकाग्रता शिविर नहीं कहूंगा, कांग्रेस ने आपातकाल के दौरान डेढ़ साल तक लोगों को कैद रखा, लेकिन किसी ने उसे कंसन्ट्रेशन नहीं बताया, आगे उन्होंने पूछा क्या एहतियाती कार्रवाई कंसन्ट्रेशन कैंप के बराबर है ?

Facebook Comments