नहीं रही Sushma Swaraj कल देर रात दिल्ली के एम्स अस्पताल में हुआ निधन !

Yesterday in aiims hospital Sushma Swaraj was dead everyone paying tribute
Yesterday in aiims hospital Sushma Swaraj was dead everyone paying tribute

भारत की पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की दिग्गज नेता Sushma Swaraj अब इस दुनिया में नहीं रहीं। सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था, वे पिछले काफी समय से अस्वस्थ चल रही थीं और कल देर शाम दिल्ली के एम्स अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली। वह 67 साल की थीं। जैसे ही ये खबर राजनेताओं को मिली उसके बाद से ही सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा हुआ है।

दिल्ली के जंतर मंतर पर स्थित Sushma Swaraj के आवास पर उनको श्रद्धांजलि देने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भावुक हो गए। डबडबाई आंखों के साथ उन्होंने सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि दी और परिवारीजनों को सांत्वना दी।

आपको बता दें की विदेश मंत्री के रूप में सुषमा स्वराज का पीएम मोदी के साथ तालमेल बहुत ही अच्छा रहा है। पहले कार्यकाल के दौरान पीएम मोदी के विदेश दौरे को सफल बनाने के पीछे सुषमा स्वराज का बड़ा योगदान रहा था, जहां-जहां पीएम मोदी ने विदेश यात्राएं की उनसे पहले सुषमा स्वराज ने वहां पहुंचकर दौरे को सफल बनाने की जमीन तैयार की थी।

  • पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन, दिल का दौरा पड़ने के बाद अचेतावस्था में लाई गई थीं एम्स।
  • तीन घंटे पहले आखिरी ट्वीट- जिंदगी भर इस दिन की प्रतीक्षा कर रही थी।
  • अंतिम संस्कार आज, पीएम मोदी ने कहा- करोड़ों लोगों की प्रेरणास्रोत।
  • जनता पार्टी से राजनीति में आईं, अटल से मोदी सरकार तक चार बार मंत्री रहीं।
  • सुषमा टि्वटर पर 1.31 करोड़ फॉलोअर्स के साथ दुनिया की सबसे चर्चित महिला नेता थी।

सुषमा स्वराज के निधन की खबर सामने आने के बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने कहा, “राष्ट्र ने एक असाधारण नेता खो दिया है। मेरे लिए, यह एक अपूरणीय क्षति है और मुझे सुषमाजी की उपस्थिति बहुत याद आएगी। उनकी आत्मा को शांति मिले। स्वराज जी, बांसुरी और उनके परिवार के सभी सदस्यों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। ओम शांति।” 

आगे अपने बयान में आडवाणी ने लिखा है कि सुषमा स्वराज के निधन की खबर से वह स्तब्ध हैं। वह एक ऐसी नेता थीं, जिनके साथ भारतीय जनता पार्टी की शुरुआत से ही काम किया, जब अस्सी के दशक में मैं पार्टी का अध्यक्ष था, तब सुषमा स्वराज एक युवा नेता के तौर पर उभर रही थीं और मैंने उन्हें अपनी टीम में शामिल किया था।

वही सुषम सवराज के निधन के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली में दो दिन का शोक घोषित कर दिया है और हरियाण सरकार ने भी पुरे हरियाणा में दो दिन का शोक घोषित किया है, अपनी मौत से ठीक एक घंटे पहले ही भारत के प्रसिद्ध वकील और अंतर्राष्ट्रीय अदालत में भारत का पक्ष रखने वाले वकील हरीश साल्वे को आकर बतौर फीस एक रुपये ले जाने को कहा था। 

दरअसल सुषमा स्वराज ने कहा था कि कुलभूषण जाधव मामले में केस लड़ने के लिए वकील हरीश साल्वे ने महज एक रुपये फीस ली थी। हरीश साल्वे ने बताया कि निधन से एक घंटे पहले सुषमा जी से उनकी बातचीत हुई थी। उन्होंने बताया कि सुषमा जी ने उन्हें उनकी एक रुपये फीस ले जाने के लिए बुलाया था।

आपको बता दें की मोदी सरकार को भी उन्होंने ट्वीट कर बधाई दी थी और यह बधाई जम्मू-कश्मीर से धारा 370 और 35A को हटाने को लेकर इसे मोदी सरकार की एक बड़ी जीत बताया था, वही उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए विपक्ष के कई बड़े नेता भी पहुंचे

Facebook Comments