फिर होगी 2 दिग्गजो के बीच ‘एशेज’ की जंग, क्यों दिया गया ऐसा नाम

History of the greatest test competition in cricket
History of the greatest test competition in cricket

क्रिकेट इतिहास के दो पुराने प्रतिद्वंदी एक बार फिर आमने सामने खेलते दिखेंगे। जी हां हम बात कर रहे हैं ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेली जाने वाली एशेज टेस्ट सीरीज की। जब भी ये दोनों टीमें मिलती हैं, तो पूरी तरह से एक अलग प्रतिद्वंद्विता दिखाई देती है। एशेज की 71वीं श्रृंखला की आगामी 1 अगस्त से शुरू होने जा रही है। इस बार एशेज सीरीज की मेजबानी इंग्लैंड के पास है और यहीं से ‘आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप’ के पहले श्रृंखला की शुरुआत भी हो रही है, जिसका फाइनल मुकाबला 2021 में 10 से 14 जून के बीच खेला जाएगा।

आखिर क्यों दिया गया ‘एशेज‘ नाम

History of the greatest test competition in cricket

साल था 1882 का जब ऑस्ट्रलिये ने इंग्लैंड को ओवल टेस्ट मैच में हराया था, ऑस्ट्रलिये ने इंग्लैंड को पहली बार उन्ही के घर पर हराया। यह इंग्लैंड क्रिकेट के लिए बहुत शर्मनाक हार थी। इस हार के बाद ब्रिटेन के अखबार ‘द स्पोर्टिंग टाइम’ ने व्यंगात्मक तौर पर एक शोक संदेश प्रकाशित किया और लिखा, ‘इंग्लिश क्रिकेट की मौत हो गई, शव का अंतिम संस्कार ​कर दिया गया और राख (एशेज) ऑस्ट्रेलिया ले जाया गया।’

History of the greatest test competition in cricket

तब इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान रहे इवो ब्लाइ ने शपथ लिया कि वह ‘एशेज’ को फिर से अपने देश वापस लेकर आएंगे। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया में होने वाली अगली टेस्ट सीरीज से इंग्लैंड ने सीरीज 2-1 से जीत ली। बताया जाता है कि इस जीत पर मेलबर्न में कुछ महिलाओं ने ब्लाइ को एक कलशनुमा ट्राफी भेंट की।  इसमें तीसरे टेस्ट के दौरान इस्तेमाल हुई एक गिल्ली की राख भरी थी। छह इंच की यह ट्राफी पहले कप्तान इवो ब्लाइ के घर में रखी थी लेकिन उनके निधन के बाद इसे उनकी पत्नी ने इसे लॉर्ड्स के म्यूजियम में रखवा दिया। यह ट्राफी बाद में लॉर्ड्स के म्यूजियम में रख दी गई और इससे मिलती एक आधिकारिक ट्राफी बनाई गई। इसके बाद से ही क्रिकेट फैंस और मीडिया ने ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड टेस्ट सीरीज को ‘एशेज’ नाम दे दिया।

आज तक कुल 70 बार हो चुका है एशेज सीरीज

वर्तमान में एशेज ऑस्ट्रेलिया के कब्जे में है। उसने साल 2017 में अपनी धरती पर खेले गए एशेज सीरीज में इंग्लैंड को 4-0 से हराकर एशेज अपने पास रखा था। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच अब तक कुल 70 बार एशेज सीरीज खेली जा चुकी है। इंग्लैंड ने 32 तो ऑस्ट्रेलिया ने 33 बार एशेज सीरीज जीतने में कामयाबी पाई है।

अगस्त से होगा 71वीं श्रृंखला का आगाज

History of the greatest test competition in cricket

एशेज की 71वीं श्रृंखला की आगामी 1 अगस्त से शुरू होने जा रहा है, यह श्रृंखला 1 अगस्त से 16 सितम्बर के बीज खेली जायेगी। इस श्रृंखला में 5 टेस्ट मैच खेले जाएगें। सीरीज का पहला टेस्ट मैच बर्मिंघम के एजबेस्टन ​ग्राउंड पर खेला जाएगा। दूसरा मुकाबला 14 अगस्त से लंदन के ऐतिहासिक लॉर्ड्स ग्राउंड पर होगा। एशेज 2019 का तीसरा टेस्ट मैच 22 अगस्त से लीड्स के हेडिंग्ले ग्राउंड पर, चौथा टेस्ट 4 सितंबर से मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड ग्राउंड पर और पांचवां तथा आखिरी मुकाबला लंदन के ‘ओवल’ मैदान पर 12 सितंबर को खेला जाएगा जहां इस टेस्ट सीरीज का जन्म हुआ था।  

एशेज के बारे मैं और जानने के लिए इस वीडियो जरूर देखें

बीसीसीआई ने लगाया बैन, डोपिंग में फंसे युवा क्रिकेटर पृथ्वी शॉ जानने के लिए यहां क्लिक करें

For more such updates keep following SwenToday

Facebook Comments