बीसीसीआई ने लगाया बैन, डोपिंग में फंसे युवा क्रिकेटर पृथ्वी शॉ

भारतीय क्रिकेट टीम के युवा बल्लेबाज और अपनी कप्तानी में भारतीय अंडर-19 टीम को 2018 में विश्व चैंपियन बनाने वाले टीम इंडिया के उभरते सितारे पृथ्वी शॉ पर बीसीसीआई ने बैन लगा दिया। डोप टेस्ट में फेल होने की वजह से उनपर यह एक्शन लिया गया। बीसीसीआई ने पृथ्वी शॉ पर 15 नवम्बर 2019 तक के लिए बैन लगाया है। शॉ पहले से ही चोट की वजह से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। इसी वजह से उन्हें वेस्टइंडीज दौरे के लिए नहीं चुना गया।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मंगलवार को एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी। शॉ को प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन के कारण डोपिंग का दोषी माना गया है, यह पदार्थ आमतौर पर खांसी की दवाई में पाया जाता है।

बीसीसीआई ने बयान में क्या कहा

बीसीसीआई ने कहा कि पृथ्वी शॉ को डोपिंग के नियमों के उल्लंघन के कारण निलंबित कर दिया गया है। शॉ ने प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया था, जो आमतौर पर खांसी की दवाई में पाया जाता है। शॉ ने 22 फरवरी 2019 को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के दौरान अपना यूरीन सैम्पल दिया था, जिसमे प्रतिबंधित पदार्थ टर्बूटालाइन के अंश पाए गए थे। यह पदार्थ वाडा के प्रतिबंधित पदार्थ की सूची में शामिल है।

BCCI imposed ban, young cricketer Prithvi Shaw trapped in doping charges

शॉ ने अपने ऊपर लगे आरोपों को माना, लेकिन कहा कि उन्होंने अनजाने में इस पदार्थ का सेवन किया। बीसीसीआई ने शॉ द्वारा दिए गए तर्क को कबूल किया है और उन्हें 15 नवंबर तक के लिए निलंबित किया गया है।

शॉ बोले- मैं और मजबूत होकर करूंगा वापसी

टीम इंडिया के लिए 2 टेस्ट खेल चुके इस युवा बल्लेबाज ने ट्वीट कर कहा कि मुझे आशा है कि यह हमारे खेल बिरादरी में दूसरों को प्रेरित करेगा। हम खिलाड़ियों को चिकित्सा संबंधी बीमारियों के लिए किसी भी दवा को लेने में बेहद सावधानी बरतनी चाहिए। हम हमेशा प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि क्रिकेट मेरी जिंदगी है और मेरे लिए भारत और मुंबई के लिए खेलने से बड़ा कोई गर्व नहीं है, मैं इससे भी तेज और मजबूत बनूंगा और फिर वापसी करूँगा।

Yuvraj Singh ने किया ऑलराउंड प्रदर्शन जानने के लिए यहां क्लिक करें

For more such updates keep following SwenToday

Facebook Comments