राम मंदिर पर रोजाना सुनवाई होगी या नहीं, इस पर 2 अगस्त को होगा निर्णय

ayodhya-land-dispute-supreme-court-fix-date-of-hearing-on-2nd-august

बीजेपी के दुबारा सत्ता में आने के बाद से ही राम मंदिर के निर्माण की कोशिश तेज हो गयी है, उसी के मद्देनजर आज एक बार फिर कोर्ट में सुनवाई हुई है..

मध्यस्थता समिति के अध्यक्ष न्यायमूर्ति कलीफुल्ला ने अपनी रिपोर्ट जमा करवाई और इसके बाद मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगोई ने कहा की हम मामले की सुनवाई के लिए 2 अगस्त की तारीख निर्धारित करते हैं.

अपने निर्णय में उन्होंने बोला की हम मध्यस्थता समिति से अनुरोध करते हैं कि वह 31 जुलाई तक कार्यवाही के परिणाम की सूचना दे  रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय पीठ ने 11 जुलाई को हुई सुनवाई के दौरान मध्यस्थता पैनल से इस मुद्दे पर रिपोर्ट मांगी थी.

पीठ ने कहा था कि यदि मध्यस्थता प्रक्रिया किसी निष्कर्ष तक नहीं पहुंची तो 25 जुलाई से इस मामले की रोजाना सुनवाई होगी, बता दे की पीठ ने अदालत के पूर्व न्यायाधीश जस्टिस एफएमआई खलीफुल्ला के नेतृत्व में तीन सदस्यीय मध्यस्थता पैनल का गठन किया था.

बताते चले की पक्षकार गोपाल सिंह विशारद की ओर से अदालत में कहा गया था कि मध्यस्थता प्रक्रिया में कोई खास प्रगति नहीं हो रही है इसलिए जल्द सुनवाई के लिए तारीख लगाई जाए और न्यायालय ने आवेदन पर विचार करने को कहा था !

Facebook Comments