कर्नाटक, गोवा तो झांकी है ! मध्य प्रदेश अभी बाकी है : बंद कमरे में क्यों मिले कांग्रेस नेता ?

congress-alert-in-madhya-pradesh-after-karnataka-crisis-cm-kamal-nath-meets-jyotiraditya-scindia

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद ऐसा लगता है की कांग्रेस अब खत्म होने की कगार पर खड़ी है ! खुद गुलाम नबी आज़ाद यह कह चुके है की लगता है बीजेपी कांग्रेस को खत्म करने ही आई है और ऐसा वो इसलिए कह रहे है की सिर्फ कुछ राज्यों में सिमट चुकी कांग्रेस राहुल गाँधी के इस्तीफे के बाद अब टूट रही है !

पंजाब से लेकर राजस्थान तक नेताओ की महत्वकांक्षी नजरिये ने कांग्रेस को मानो ग्रहण लगा दिया है, कर्णाटक का नाटक क्या कम था जो गोवा के 10 विधायक कल बीजेपी में आ गए और वही राजस्थान में पायलट समर्थको ने एलान कर दिया है उन्हें गद्दी दी जाए वही अब लगता है सिंधिया भी अब इस रेस में आ गए है !

After Rahul Gandhi, now Kamal Nath wants to give up the resignation from the party : the decision taken after the defeat in elections !

कल सिंधिया बोले की कांग्रेस का अगला अध्यक्ष उर्जावान हो, माना यह जा रहा है की वो भी अब कांग्रेस अध्यक्ष पर की दौड़ में अपने आप को आगे रखना चाहते है वही कुछ लोग प्रियंका गाँधी का नाम भी उछाल रहे है वही कमलनाथ को भी इस बात का डर है की कहीं राज्य की इकाई में बगावत ना हो जाए !

आज उसी उधेड़बुन को खत्म करने के लिए  दोनों नेताओं ने बंद कमरे में लगभग 25 मिनट तक बातचीत की क्यूंकि कमलनाथ खेमा और सिंधिया खेमे की बीच चल रही रस्साकस्सी सरकार को अस्थिर भी कर सकती है!

बताते चले की स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के यहां गुरुवार को डिनर पर सीएम कमलनाथ और सिंधिया के अलावा कांग्रेस के 90 विधायक और 27 मंत्री मौजूद थे लेकिन इसमें दिग्विजय सिंह, अजय सिंह और पीसी शर्मा नजर नहीं आए..

वैसे गोवा और कर्णाटक में कांग्रेस के साथ जो हुआ है उसे देखकर तो यही लगता है की मध्यप्रदेश में सहयोगी के सहारे चल रही कांग्रेस की सरकार भी बस कुछ महीनो की मेहमान है !

Facebook Comments