आतंक पर अब होगा अंतिम प्रहार : राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बने रहेंगे अजित डोभाल

ajit-doval-to-continue-as-national-security-advisor-with-cabinet-rank-in-pm-modi-government

सत्ता में वापिस आते ही मोदी जी ने एक बार फिर देश के जेम्स बांड कहे जाने वाले अजित डोवाल पर भरोसा जताते हुए एक बार फिर उन्हें  राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बना दिया है और उनका दर्जा एक कैबिनेट मंत्री स्तर का होगा, पिछले कार्यकाल में उन्हें राज्य मंत्री स्तर का दर्जा प्राप्त था.

दरअसल डोभाल को पहली बार मई 2014 में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बनाया गया था और उन्हें राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया था और सबसे पहले साल 2015 म्यामांर के जंगलो में घुसकर भारतीय सेना ने पहली सर्जिकल स्ट्राइक की थी वही उरी में हुआ बर्बर कायराना हमले के जवाब में हुई सर्जिकल स्ट्राइक भी उन्ही के दिमाग की उपज थी.

अजित डोवाल को पूर्वोत्तर के कई राज्यों से उग्रवादी संघटनो को खत्म करने का श्रेय दिया जाता है और माना जाता है की अजित डोवाल कश्मीर के कई मसलो पर अपनी पैनी नजर रखते है और उनका अगला लक्ष्य कश्मीर में पंडितो की वापसी करवाना है !

बताते चले की भारत, चीन और म्यांमार सीमा पर स्थित डोकलाम के विवाद को सुलझाने में भी डोभाल की अहम भूमिका रही है, डोभाल जनवरी 2005 में इंटेलिजेंस ब्यूरो प्रमुख के पद से रिटायर हुए थे और उन्होंने अपनी सेवा के 33 साल एक खुफिया अधिकारी के तौर पर पूर्वोत्तर भारत, जम्मू कश्मीर और पंजाब में दिए हैं.

Facebook Comments