प्रज्ञा ने गोडसे को कहा देश भक्त : समर्थन में उतरे अनंत कुमार और साक्षी महाराज !

नाथूराम गोडसे को लेकर अब सारे राजनेता विपक्षियों पर लगातार नए मुद्दे बनाकर प्रहार करते जा रहे है, पिछले कुछ दिनों से राजनीति में महातम गाँधी जी के हत्यारे को पहले एक हिन्दू आतंकी बताया गया था, जिसके बाद एक राजनेता ने गोडसे को एक सच्चा देश भक्त बताया.

अब सवाल ये उठता है की पहले हमारे राष्ट्र पिता के हत्यारे को हिन्दू बताया और उसके बाद उसे आतंकी, लेकिन देखा जय तो नाथाराम गोडसे न तो देश भक्त था, न ही एक हिन्दू आतंकी, गोडसे सिर्फ एक हत्यारा था.

kamal-hassan-speaks-on-pulwama-terrorists-attacks

लोकसभा चुनाव के आखिर चरणों के मतदान के प्रचार आज शाम पांच बजे से ही थम जाएंगे लेकिन नाथूराम गोडसे पर शायद राजनीति चलती रहेगी, आपको बता दें की कमल हासन ने चुनाव प्रचार के दौरान गोडसे को हिन्दू आतंकी बताया था..

जिसके बाद प्रज्ञा ने पत्रकार के सवाल पूछने पर कहा था, ‘नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे. हालांकि साध्वी अपने इस बयान पर माफ़ी मांग चुकी है, लेकिन अब बीजेपी के कुछ नेता गोडसे को साध्वी द्वारा देश भक्त बताए जाने का समर्थन करते नज़र आ रहे है, जिसमे पहला नाम अनंत कुमार हेगड़े का है जिन्होंने कल इस मामले से जुड़े ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा ‘मैं खुश हूँ कि क़रीब 7 दशक के बाद आज की पीढ़ी बदले हुए माहौल में इस मुद्दे पर चर्चा कर रही है और इस चर्चा को सुनकर आज नाथूराम गोडसे अच्छा महसूस कर रहे होंगे’.

जिसके बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, विगत 2 दिनों में अनंत कुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और नलिन कतील के जो बयान आये हैं, वे उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है, ऐसे में बीजेपी ने एक बार फिर इस मामले से पल्ला झाड़ते हुए अपनी राय साफ़ कर दी है..

अमित शाह ने एक और ट्वीट किया है “इन लोगों ने अपने बयान वापिस लिए हैं और माफ़ी भी मांगी है। फिर भी सार्वजनिक जीवन तथा भारतीय जनता पार्टी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लेकर तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है..

जिसके बाद अनंत कुमार हेगड़े ने आज सुबह एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा की  ‘पिछले एक हफ़्ते में मेरा ट्विटर अकाउंट दो बार हैक हो चुका है और उससे कई ट्वीट किए गए हैं, जिन्हें बाद में डिलीट कर दिया गया।’ इन ट्वीट्स को लेकर हेगड़े ने ख़ेद भी जताया है..

दरअसल कुछ साल पहले बीजेपी के सांसद साक्षी महाराज ने भी एक कार्यक्रम में गोडसे को देशभक्त बताया था, तब भी बीजेपी ने साक्षी महाराज के बयान से किनारा कर लिया था.

Facebook Comments