प्रेस कांफ्रेंस में बोले मोदी जी : मुझे पूरा विश्वास जनता मुझे 300 कमल देगी

adr-report-from-2016-to-2018-the-bjp-has-got-a-donation-of-rs-915-crore

आज सातवें चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह प्रेस कांफ्रेंस की और पांच साल में ये पहली बार है जब पीएम मोदी ने प्रेस कांफ्रेंस की हो, इस दौरान अमित शाह ने मोदी सरकार की उपलब्धियों को सामने रखा.

और उसके बाद अमित शाह ने अपनी बात रखी और मोदी उनके साथ बैठे रहे, इसके बाद PM मोदी ने अपनी बात रखी, PM ने कहा की, नई सरकार बनना जनता ने तय कर लिया है। हमने संकल्प पत्र में देश को आगे ले जाने के लिए कई बातें कही हैं। जितना जल्दी होगा, उतना जल्दी नई सरकार अपना कार्यभार लेगी। एक के बाद एक करके निर्णय हम लेंगे.

आगे उन्होंने कहा की 16 मई को पिछली बार रिजल्ट आया था और 17 मई को एक दुर्घटना हुई थी, 17 मई को सट्टाखोरों को मोदी की हाजिरी का बड़ा नुकसान हुआ था। सट्टा लगाने वाले तब सब डूब गये थे, यानी ईमानदारी की शुरुआत 17 मई को हो गई थी.

और PM मोदी  ने कहा की इस बार का चुनाव शानदार रहा, एक सकारात्मक भाव से चुनाव हुआ और पूर्ण बहुमत वाली सरकार पांच साल पूरे करके दोबारा जीतकर आए ये शायद देश में बहुत लंबे अर्से के बाद हो रहा है, ये अपने आप में बड़ी बात है.

आगे उन्होंने कहा की, मैं मानता हूं कि कुछ बातें हम गर्व के साथ दुनिया से कह सकते हैं। ये दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, ये लोकत्रंत की ताकत दुनिया के सामने ले जाना हम सबका दायित्व है और हमें विश्व को प्रभावित करना चाहिए कि हमारा लोकतंत्र कितनी विविधताओं से भरा है.

जिसके बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा की, मैं बहुत गर्व के साथ कह रहा हूं कि देश की आजादी के बाद सबसे ज्यादा परिश्रमी और विस्तृत चुनाव अभियान हमारे नेता नरेन्द्र मोदी जी ने किया है.

आगे उन्होंने बताया की 142 जनसभाओं को मोदी जी ने इस चुनाव में संबोधित किया है और 4 रोड शो किये। इन जनसभाओं में अनुमानित 1 करोड़ 50 लाख से ज्यादा लोगों के साथ नरेन्द्र मोदी जी ने संपर्क स्थापित किया.

आगे बीजेपी अध्यक्ष ने ममता बनर्जी पर भी हमला बोलते हुए कहा की, बंगाल में भाजपा के 80 कार्यकर्ता मारे गए हैं। हम तो पूरे देश में चुनाव लड़ रहे हैं, कहीं और हिंसा क्यों नहीं होती है। हमारे कारण हिंसा होती तो देश के हर हिस्से में होती, मीडिया को ममता जी से पूछना चाहिए कि वहीं ऐसा क्यों होता है.

भाजपा जनसंघ के समय से और भाजपा के बनने के बाद से संगठनात्मक तरीके से काम करने वाली पार्टी रही है और  संगठन हमारे सभी कामों का प्रमुख अंग रह..

ये चुनाव आजादी के बाद के चुनाव में भाजपा की दृष्टि से सबसे ज्यादा मेहनत करने वाला, सबसे विस्तृत चुनाव अभियान रहा है। इस चुनाव में हमारा अनुभव के अनुसार जनता हमसे आगे आगे रही है। मोदी सरकार फिर से बनाने के लिए जनता का उत्साह भाजपा से आगे रहा है

Facebook Comments