येचुरी ने किया हिन्दुओ का अपमान : बोले हिंसक होता है हिन्दू, रामायण में भी हुई थी लड़ाई

Yechury did humiliation of Hindus: Sage was violent Hindu, Ramayana was also fought

लोकसभा चुनाव के परिणाम 23 मई को आने है और अभी तीन चरणों के मतदान होने बाकी है वैसे अब चुनाव का माहौल है तो नेताओ को तो विपक्ष पर हमला करने का मौका मिल ही जाता है लेकिन कुछ राजनेता ऐसे है जो कई बार किसी धर्म या जाति को लेकर टिपण्णी करते है और आज ताजा मामला है सीताराम येचुरी का जिन्होंने एक बार फिर हिन्दुओ को हिंसक बताया है.

एक बयान में सीताराम येचुरी ने कहा कि रामायण और महाभारत भी लड़ाई हुई थी और ये दोनों ग्रन्थ हिंसा से भरे हुए है लेकिन एक प्रचारक के तौर आप सिर्फ महाकाव्य के तौर पर उसे बताते हैं और उसके बाद भी कुछ लोग और संघटन यह दावा करते हैं कि हिंदू हिंसक नहीं है.

येचुरी आगे बोले कि ऐसे में किसी एक धर्म को हिंसा से जोड़ने का क्या तर्क है क्यूंकि हिंसा तो किसी ना किसी रूप में हर धर्म और जाति में होती ही होती है ! गौरतलब है कि इस चुनाव प्रचार में हिंदू और हिंदुत्व से जुड़े कई ऐसे बयान हैं, जो चर्चा में बने हैं या जिनको लेकर विवाद भी होता रहा है.

बता दे की जब भारतीय जनता पार्टी ने मालेगांव ब्लास्ट में आरोपी बनायीं गयी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर { जो की अभी जमानत पर है } को भोपाल से अपना प्रत्याशी बनाया तब हिंदू आतंकवाद की थ्योरी पर जमकर चर्चा हुई और बीजेपी पर सवाल खड़े किये गए की वो एक आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार की गयी महिला को कैसे टिकट दे सकते है।

हालांकि उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी कई मौकों पर इन आरोपों पर कहा कि कांग्रेस जिस हिंदू आतंकवाद के नाम पर हिंदुओं को बदनाम करती रही है, साध्वी प्रज्ञा उसी के खिलाफ हमारा जवाब है, आपको बता दे की मोदी जी और बीजेपी हमेशा से कांग्रेस पर यह आरोप लगाती आयी है की अल्पसंख्यकों का तुष्टिकरण करने के चलते कांग्रेस ने हिन्दू आतंकवाद की छवि को जन्म दिया था जिसके शिकार मालेगाव ब्लास्ट के हिन्दू आरोपी हुए !

Facebook Comments