बीजेपी के संकल्प पत्र को कांग्रेस ने बताया झांसा पत्र : पीएम मोदी पर लगाया वादा खिलाफी का आरोप

Today, the Bharatiya Janata Party has issued its own resolution, in which the issue of national security is going to look ego

लोकसभा चुनावो में अब लड़ाई घोषणा पत्र vs संकल्प पत्र की होती नज़र आ रही, जैसा की आपको सब को मालूम है की पहले चरण के चुनाव 11 तारीख को होंगे, जिसके चलते सारी पार्टीया अपना पूरा जोर लगा रही है जैसा की आपको मालूम है की कुछ दिन पहले ही कांग्रेस पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी किया था जिसके बाद बीजेपी ने कांग्रेस के घोषणा पत्र को ढकोसला पत्र बताया था.

जिसके बाद आज भारतीय जनता पार्टी ने अपना संकल्प पत्र जारी किया है जिसमें राष्ट्र सुरक्षा का मुद्दा एहम माना जा रहा है लेकिन बीजेपी के संकल्प पत्र जारी करने के बाद कांग्रेस पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस संकल्प पत्र पर सवाल उठाते हुए इसे झांसा पत्र बताया है.

हालांकि ये बात लाज़मी है की हर पार्टी को अपनी बताई हुई चीज़े ही ज्यादा बेहतर लगती है दरअसल कांग्रेस ने पहली टिप्पणी तो इस बात पर की है की हमारे घोषणा पत्र में जनता की तस्वीर है और बीजेपी के घोषणा पत्र में मोदी की ?

आपको बता दें की वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा कि पीएम मोदी को संकल्प पत्र नहीं, बल्कि बीजेपी को माफीनामा जारी करना चाहिए था वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने घोषणापत्र से गायब मुद्दों को लेकर भाजपा पर जमकर  हमला बोला.

वही कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने तो ट्वीट कर लिखा है मोदी मूलमंत्र = ‘झाँसे में फांसो’ ,इनकी सरकार का सफरनामा महज़ जुमलों से झांसों तक है वो यहीं नहीं रुके आगे उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने भाजपा के संकल्प पत्र में से 11 झूठी घोषणाएं निकाली हैं नौकरी और रोजगार, भाजपा नेताओं के भाषण से गायब रहा नोटबंदी की चर्चा और जीएसटी पर कोई बात नहीं की, काले धन की बात पर 2014 में सत्ता में आए लेकिन आज उस पर कोई बात नहीं की.

अब देखना ये की दोनों पार्टिया चुनाव शुरू होने तक एक दूसरे की खामिया गिनती नज़र आएँगी, फिलहाल तो ये जनता पर निर्भर है की उसे पहले देश मजबूत चाहिए या गरीब ? लेकिन ये देखना दिलचस्प होगा की इस बार के चुनावों में किसके घोषणा पत्र पर जनता दाव लगाती है.

Facebook Comments