प्रियंका गांधी ने बदले समीकरण : शिवपाल के इस कदम से अखिलेश की बढ़ेगी मुश्किल

उत्तर प्रदेश के महासमर में एक तरफ सपा और बसपा ने अपनी पार्टियों को एकजुट कर गठबंधन बना लिया है वही कांग्रेस ने इस बार निर्णय लिया है की आने वाले चुनावो में अकेली ही लड़ेगी लेकिन प्रियंका गाँधी की एंट्री ने उप के सियासी समीकरण पुरे भले ही ना सही लेकिन कुछ तो बदल ही दिए है.

उत्तर प्रदेश में अखिलेश के चाचा शिवपाल को सब नजरंदाज़ कर रहे है, उन्होंने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के नाम से एक नयी पार्टी बनायीं है और माना जा रहा है की सपा के पुराने नेता और मुलायम के बेहद करीबी होने के नाते शिवपाल यादव की पार्टी के प्रत्याशी सपा का अच्छा ख़ासा नुकसान कर सकते है.

अब खबरे यह भी आ रही है की पार्टी का यदि कांग्रेस के साथ समझौता होता है तो पार्टी कम से कम 20 से 25 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी, 12 मार्च को सभी जिलों के प्रसपा पदाधिकारियों से इस संबंध में सुझाव लिया जाएगा..

सुनने में आ रहा है की लखनऊ में पार्टी पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में तय हुआ है कि यदि सप्ताह भर के अंदर समझौते पर कोई फैसला नहीं होता है तो प्रसपा सभी सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी..

Facebook Comments