पाकिस्तान की नयी पीड़ा : भारत ने पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को वीज़ा देने से मना कर दिया

india-denies-to-give-visa-to-pakistani-pilgrims-coming-to-ajmer-sharif

26 feb को हुई एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की एक और पीड़ा सामने आ रही है, इस बार पाकिस्तान के धार्मिक मामलो के मंत्री पीर नूर-उल-हक़ क़ादरी ने भारत पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा की 500 पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को गुरूवार को अजमेर शरीफ़ जाना था लेकिन भारत ने उन्हें वीज़ा देने से इनकार कर दिया.

क़ादरी ने कहा, भारत का कट्टरपंथी चेहरा सामने आ गया है, मोदी सरकार पर आरोप मढ़ते हुए वो कहते है की धार्मिक कट्टरपंथियों ने भारत को बंधक बना लिया है, आगे उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी दो साल से उर्स में शामिल होने से वंचित थे.

बताते चले की सूफी संत ख्वाज़ा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह भारत में मुस्लिमों का सबसे पवित्र स्थल है. 12वीं सदी के संत चिश्ती पाकिस्तान के रहने वाले थे और मुस्लिम समुदाय में उनकी काफी मान्यता है, सूफी संत ने पंजाब और राजस्थान में प्रेम और सहिष्णुता का संदेश दिया था. उनके उर्स समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान से हर साल लगभग 500 पाकिस्तानी आते हैं

Facebook Comments