मायावती ने किया 1400 करोड़ रूपये का घोटाला : ED ने की बड़ी कार्यवाही

ed-raids-in-connection-with-misuse-of-funds-for-building-statues-during-mayawati-time

उत्तर प्रदेश में गोमती रिवरफ्रंट और अवैध खनन मामले में छापेमारी और पूछताछ के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय ने स्मारक घोटाले मामले में छापेमारी की है, आज ईडी की टीम ने लखनऊ में सात जगहों पर छापा मारा। ये छापेमारी शहर के हजरतगंज, गोमतीनगर, अलीगंज, शहीद पथ, आदि जगहों पर हुई.

यह कथित मूर्ति घोटाला उसी समय हुआ था जब मायावती उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री थीं. इस घोटाले से सरकार को करीब 111 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था. जबकि मूर्ति बनाने की परियोजना की लागत 1,400 करोड़ रुपये से अधिक थी.

यह मामला प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत इसलिए दर्ज किया गया है क्योंकि इससे सरकारी कर्मचारियों और निजी व्यक्तियों के सरकारी खजाने को 111,44,35,066 रुपये का नुकसान हुआ था.

mayawati-demand-ec-to-hold-2019-general-election-using-ballot-paper

मायावती ने अपने कार्यकाल में नोएडा में हाथी की पत्थर की 30 मूर्तियां और कांसे की 22 प्रतिमाएं लगवाई गईं थीं, जिस पर 685 करोड़ रुपये खर्च हुए थे.

mayawati-threatens-to-pull-out-from-mp-and-rajasthan-government

इसके बाद 2012 में उत्तर प्रदेश की सत्ता पर अखिलेश यादव विराजमान हुए और मुख्यमंत्री बनते ही मायावती पर 40,000 करोड़ की ‘मूर्ति घोटाले’ का आरोप लगाया था. जिसे मायावती ने सिरे से खारिज कर दिया था.

bsp-and-sp-will-contest-on-38-seats-in-up

बताते चले की उत्तर प्रदेश में हुए खनन घोटाला मामले में सोशल मीडिया की सनसनी आईएएस बी चंद्रकला पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कसते शिकंजे को लेकर भी अखिलेश यादव सवालों में घिरते आए हैं और ऐसे में अब मायावती की मुश्किलें भी बढ़ती दिखाई दे रही है.

Facebook Comments