नागरिकता संशोधन बिल 2019 लोक सभा में पास : कल राज्य सभा जाएगा !

3
loksabha-passed-citizenship-amendment-bill-2019

आज लोकसभा में मंगलवार को नागरिकता संशोधन बिल, 2019 को पास कर दिया गया. सरकार अब इसे बुधवार को राज्यसभा में पास करने की कोशिश करेगी, वैसे इस मामले पर कांग्रेस ने वाक आउट किया और इसे संविधान का हनन बताया है.

यह बिल, नागरिकता कानून 1955 में संशोधन के लिए लाया गया है. इस बिल के कानून बनने के बाद, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई धर्म के मानने वाले अल्पसंख्यक समुदायों को 12 साल के बजाय छह साल भारत में गुजारने पर और बिना उचित दस्तावेजों के भी भारतीय नागरिकता मिल सकेगी.

राजनाथ सिंह जी ने कहा की  असम समझौता एक महत्पूर्ण स्तम्भ है. इसमें असम के लोगों की सामाजिक, सांस्कृतिक पहचान को संरक्षित रखने की बात कही गई . इसके लिये कानूनी एवं प्रशासनिक आधार तैयार करने की बात भी कही गई . लेकिन पिछले वर्षो में ऐसा नहीं हुआ.

गृह मंत्री ने कहा कि नागरिकता विधेयक के संबंध में गलतफहमी पैदा करने का प्रयास किया जा रहा है और असम के कुछ भागों में आशंकाएं पैदा करने की कोशिश हो रही है .

वही असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का जिक्र करते हुए कहा कि इसे उचित ढंग से लागू किया जा रहा है. इसके तहत शिकायत करने का प्रावधान किया गया है. हम प्रक्रिया पूरी करने को प्रतिबद्ध है . किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं होगा.

Facebook Comments