पहला भगोड़ा आर्थिक अपराधी विजय माल्या : संपत्ति जब्त करेगी सरकार !

court-declares-vijay-mallya-a-fugitive-economic-offender

नौ हजार करोड़ के बैंक लोन घोटाले में देश को चुना लगाकर भागे शराब कारोबारी विजय माल्‍या ‘भगोड़ा’ आर्थिक अपराधी घोषित हो गया है। विशेष पीएमएलए अदालत ने यह फैसला सुनाया और अब इसी के साथ अब सरकार को विजय माल्या की संपत्ति जब्त करने का भी अधिकार मिल गया है।

आपको यह भी बता दे की भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून-2018 के तहत माल्या पहला अपराधी है जिसे भगोड़ा घोषित किया गया है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इसकी अपील की थी, अब माना जा रहा है की माल्या की संपत्तियां जब्त करने को लेकर 5 फरवरी को सुनवाई होगी।

दरअसल माल्या पर भारतीय बैंकों के 9,000 करोड़ रुपए बकाया हैं। एसबीआई के नेतृत्व वाले 17 बैंकों के कंसोर्शियम ने माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस को लोन दिया था। माल्या लोन नहीं चुका पाया और मार्च 2016 में लंदन भाग गया।

माल्या पर मनी लॉन्ड्रिंग और टैक्स चोरी के भी आरोप हैं। ईडी के साथ सीबीआई और आयकर विभाग भी माल्या के खिलाफ आरोपों की जांच कर रहा है।

माल्या पर इन 5 बैंकों का सबसे ज्यादा कर्ज

बैंक लोन (रुपए)
एसबीआई 1600 करोड़
आईडीबीआई बैंक 800 करोड़
पीएनबी 800 करोड़
बैंक ऑफ इंडिया 650 करोड़
बैंक ऑफ बड़ौदा 550 करोड़

 

बताते चले की लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत 10 दिसंबर को यह फैसला दे चुकी है कि माल्या को भारत प्रत्यर्पित किया जाए। अदालत ने मामला ब्रिटिश सरकार को भेज दिया था। वहां की सरकार अदालत के फैसले से संतुष्ट होती है तो वह माल्या के प्रत्यर्पण का आदेश जारी करेगी।

Facebook Comments