शी जिनपिंग का साल का पहला संदेश : सेना को युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए कहा !

शी जिनपिंग

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने नए साल के मौके पर कहा है कि देश आज संकट का सामना कर रहा है और पीपल्स लिबरेशन आर्मी यानी PLA को युद्ध की स्थिति के लिए तैयार रहना होगा. सेंट्रल मिलिट्री कमीशन (सीएमसी) की बीजिंग में हुई एक बैठक में कमीशन के चेयरमैन शी जिनपिंन ने आला अधिकारियों को चेताया कि देश में कई तरह के ख़तरे बढ़ रहे हैं.

युद्ध के लिए तैयारी की वजह क्या है ?

china-xi-jinping-calls-army-to-be-battle-ready

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार चीन दक्षिणी चीन सागर में अपनी मौजूदगी ही नहीं नियंत्रण भी बढ़ाना चाहता है और साथ ही अमरीका के साथ व्यापार के मुद्दों को लेकर और ताइवान के साथ भी चीन के रिश्ते तनावग्रस्त हैं.

चीन और अमरीका दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं और दुनिया का बाज़ार पर अपने अधिकार के लिए एक तरह की परोक्ष लड़ाई में लगे हैं. दोनों एक दूसरे से होने वाले आयातों पर अतिरिक्त शुल्क लगा रहे हैं.

दक्षिणी चीन सागर

दक्षिणी चीन सागर पर बढ़ते सीमा विवाद और अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध के गहराने के बीच चीन अपनी सैन्य क्षमता को और मजबूत करना चाहता है.

समाचार एजेंसी शिन्हुआ का कहना है कि शी जिनपिंग ने अपने शीर्ष सैन्य अफसरों के साथ बैठक में कहा कि चीन पर खतरा और चुनौतियां बढ़ती जा रही है, ऐसे में हमारे सुरक्षा बलों को सुरक्षा के लिए और काम करने की जरुरत है.

china-xi-jinping-calls-army-to-be-battle-ready

बताते चले की इससे पहले शी जिनपिंन ने बयान दिया था की ताइवान को चीन के साथ ‘मिलना होगा’ और यह ‘मिलकर ही रहेगा.’ उनका कहना था कि चीन को ये अधिकार है कि वो अगर चाहे तो इसके लिए सैन्य ताकत का इस्तेमाल करे.

Facebook Comments