मोदी जी के इंटरव्यू पर कांग्रेस का पलटवार : प्रधानमन्त्री ‘जुमलों भरी’ बातें कर रहे हैं

congress-attacks-bjp-and-bs-yeddyurappa-in-press-conference

नए साल के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इंटरव्यू कई मुद्दों पर खुलकर बात की. इसमें राम मंदिर पर अध्यादेश लाने, सर्जिकल स्ट्राइक और हाल ही में इस्तीफा देने वाले RBI के गवर्नर उर्जित पटेल का मुद्दा भी शामिल है.

लगभग 90 मिनट लम्बे इंटरव्यू में प्रधानमन्त्री मोदी ने कहा कि यह कामयाबी भरा साल रहा. चुनाव सिर्फ एक पहलू है. गरीबों को आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख रुपए तक का इंश्योरेंस दिया जा रहा है. बड़ी तादाद में ऐसे लोग बीमार हैं. इन्हें आज मुफ्त इलाज मिल रहा है. ऐसे में मैं कैसे कह दूं कि यह साल नाकामी भरा रहा ?

लेकिन इस इंटरव्यू पर कांग्रेस ने निशाना साधा और आरोप लगाया कि उन्हें जनता से किए वादों से कोई सरोकार नहीं है, बल्कि वह ‘जुमलों भरी’ बातें कर रहे हैं.

पीएम मोदी के इस इंटरव्यू को लेकर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, न जमीनी हकीकत की दरकार, न किए हुए वादों से सरोकार, जुमलों भरा मोदीजी का साक्षात्कार.

उन्होंने दावा किया, ‘नोटबंदी, ‘गब्बर सिंह टैक्स’, बैंक फ्रॉड, काला धन वालों की मौज, हर खाते में 15 लाख, राफेल का भ्रष्टाचार, महंगाई, राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़, किसान पर मार, अच्छे दिन वादे से देश भुगत रहा है.

बताते चले की  प्रधानमंत्री मोदी ने इस इंटरव्यू में विपक्ष के गठबंधन के प्रयास, अयोध्या मामले, नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक, राफेल, अगस्ता वेस्टलैंड, किसानों की कर्जमाफी, मॉब लिंचिंग और तीन तलाक सहित विभिन्न मुद्दों पर अपनी अपनी बात रखी.

उन्होंने भ्रष्टाचार सहित कुछ अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस नेतृत्व पर भी निशाना साधा और आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेता अयोध्या मामले से जुड़ी कानूनी प्रक्रिया के रास्ते में अड़ंगे डाल रहे हैं.

वही जब उनसे 5 राज्यों में हुई हार के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, तेलंगाना और मिजोरम में बीजेपी को कभी मौका नहीं मिला था. छत्तीसगढ़ में स्पष्ट जनादेश था. लेकिन बीजेपी हार गई. लेकिन दो राज्यों में हंग असेंबली थी. दूसरी बात यह कि 15 साल के बाद सत्ताविरोधी लहरों की वजह से हमें हार का मुंह देखना पड़ा. हम उन मुद्दों पर चर्चा कर रहे हैं जिनकी वजह से हमें हार का मुंह देखना पड़ा.

Facebook Comments