Simmba Review:  रैप्चिक डायलॉग्स, फंटास्टिक म्यूजिक और इमोशन का तड़का है फिल्म सिम्बा

फ़िल्म: सिम्बा

निर्देशक: रोहित शेट्टी

स्टार: रणवीर सिंह, सारा अली खान, सोनू सूद, आशुतोष राणा, अजय देवगन

सर्टिफिकेट : U/A

अवधि: 2 घंटा 45 मिनट

बजट: 80 करोड़

रेटिंग : 3.5

2018 में जाते जाते अपने एक्शन कॉमेडी प्रेमी दर्शकों के लिए रोहित शेट्टी फिल्म ‘सिम्बा’ को लेकर आये हैं. रणवीर और सारा के साथ रोहित शेट्टी का पहला ‘सिंघम एक्सपेरिमेंट’ बड़े परदे पर दर्शकों को लुभाता नज़र आ रहा है. फिल्म सिम्बा तेलगु फिल्म टेम्पर का रीमेक है लेकिन हिंदी बेल्ट के दर्शकों के लिए जोड़-तोड़ कर बनाई गई है. फिल्म में गुदगुदाने वाले वन लाइनर डायलॉग हैं तो सीट से उछलकर सीटी मारने वाले एक्शन भी. फिल्म की ढीली कहानी को कॉमेडी, एक्शन, इमोशन के ट्रायंगल से रोहित शेट्टी ने बखूबी साधने की कोशिश की है. फिल्म में क्लाइमेक्स सीन के अन्दर आपको एक सरप्राइज़ भी मिलेगा. ये सरप्राइज़ रोहित शर्मा की आने वाली फिल्म से जुड़ा है जिसमे अक्षय कुमार पुलिस ऑफिसर सूर्यवंशी का किरदार निभाने वाले हैं.

फर्स्ट हाफ गुदगुदाएगी सेकंड हाफ इमोशनल कर देगी

फिल्म की कहानी सिंघम में जहाँ खत्म हुई उसके आगे से शुरू होती है. अजय देवगन के Voice Over के साथ शुरू हुई सिम्बा फिल्म को इंटेस फील देती है. फिल्म के शुरुवाती 10 मिनट में आपको कहानी पूरी तरह साफ़ हो जाती है. फिल्म के फर्स्ट हाफ में रणवीर एक घूसखोर, टपोरी और पावरफुल पुलिसवाले का किरदार निभाते नज़र आते हैं. जिनकी पोस्टिंग गोवा के एक ऐसे इलाके हो जाती है जिसका डॉन है दुर्वा रानाडे. दुर्वा रानाडे का किरदार सोनू सूद ने निभाया है.

रणवीर फिल्म में क्यूंकि एक घूसखोर बेईमान टपोरी स्टाइल के पुलिसवाले का किरदार निभा रहे हैं तो रानाडे के कामों को संरक्षण देने के बदले सिम्बा (रणवीर सिंह) जमकर रिश्वत कमाता है. सिम्बा की मुलाक़ात थाने के सामने कैटरिंग का बिजनेस चलाने वाली सारा अली खान से भी हो जाती है. पहली नजर में ही सिम्बा उसे दिल दे बैठता है. सारा के पिता पुलिस अफसर थे और एक एनकाउंटर में उनकी मौत हो गई थी. शगुन (सारा अली खान) भी दिल दे बैठती है. कहानी में लव सीन के लिए ज्यादा समय खर्च नहीं किया गया है. बस एक सॉंग के ज़रिये ही लव स्टोरी को बयाँ कर दिया जाता है. इसके अलावा फिल्म में फर्स्ट हाफ में सिम्बा अनाथ बच्चों को पढ़ाने वाली आक्रुति (वैदेही परशुरामी) जोकि एक मेडिकल स्टूडेंट हैं उसको अपनी छोटी बहन मान लेते हैं.

फिल्म का फर्स्ट हाफ आपको जमकर गुदगुदायेगा लेकिन इंटरवल से तुरंत पहले सिम्बा की मानी हुई छोटी बहन आक्रुति के साथ कुछ ऐसा घटेगा कि पूरी फिल्म की कॉमेडी इमोशनल गंभीर शांति में बदलता नज़र आएगा. सेकंड हाफ में सोशल इशू पर कई मैसेज सुनने को मिलते हैं. समाज और कानून की हकीकत भी देखने को मिलती है लेकिन वो कौन सी वजह है जो बेईमान, घूसखोर, टपोरी और अनाथ पुलिसवाले सिम्बा को एक सीरियस परिवार वाले ईमानदार पुलिसवाले में बदलकर रख देती है ये देखने के लिए आपको थिएटर में फिल्म का आनंद लेना होगा. जहाँ आप सिम्बा के बदले रूप के तेवर का जमकर सीटी मारकर मज़ा ले पाएंगे.

पुराने गानों में नए दौर का तड़का, ज़बरदस्त

फिल्म में म्यूजिक के नाम पर पांच गानों को जगह दी गई है जिसमें ‘आँख मारे…’ ‘तेरे बिन नहीं लगदा दिल मेरा..’ ‘ आला रे आला सिम्बा आला’ को खास पसंद किया जा रहा है. इसमें ‘आँख मारे’ और ‘तेरे बिन नहीं लगदा’ दोनों ही पुराने गानों का रीमेक है. जिन्हें बड़ी ही खूबसूरती के साथ दर्शकों को सुनाया गया है. फिल्म के बैकग्राउंड स्कोर भी एकदम बढ़िया है जो इमोशनल पहलु पर इमोशनल कर देगा और एक्शन के वक़्त सीटी मारने पर मजबूर कर देगा. फिल्म में सिंघम हाँ वही अपने अजय देवगन की एंट्री पर शेर की दहाड़ के बैकग्राउंड म्यूजिक आपको सिंघम की याद दिला देंगे.

कम गाड़ियाँ तोड़कर भी हिट रहे रोहित शेट्टी

फिल्म का निर्देशन रोहित शेट्टी ने किया है. चेन्नई एक्सप्रेस, सिंघम, गोलमाल सीरीज, बोल बच्चन जैसी बेहतरीन एक्शन कॉमेडी को बड़े परदे पर ज़बरदस्त हिट तरीके से परोसने के लिए ही रोहित को जाना जाता है. इस बार रोहित ने फिल्म को इमोशन और सोशल इशू का स्वाद देने की भी कोशिश की है. फिल्म की कहानी को कुछ जगह पर मजबूत किया जा सकता था जैसे कि एनकाउंटर सीन को और मसालेदार बनाया जा सकता था. सिंघम के रोल को और लंबा कर और बेहतर फिल्म को किया जा सकता था.

फिल्म में फीमेल एक्टर्स के लिए काफी कुछ नहीं रखा गया है. सारा का रोल फर्स्ट हाफ तक तो नज़र आता है मगर सेकंड हाफ में ढ़ीला पड़ जाता है. हालाँकि ये फिल्म की कहानी महिला से जुड़े मुद्दे पर केन्द्रित हो जाती है ऐसे में अगर फिल्म में सारा के रोल को और इम्प्रेसिव्ली दिखाया जाता तो फिल्म को और दमदार बनाया जा सकता था लेकिन फिल्म के डायरेक्शन की खूबसूरती यही है कि इन सब खाली जगहों के बावजूद आपको फिल्म में कहीं भी ऊब या फिल्म में कोई कमी महसूस नहीं होगी.

रोहित शेट्टी फिल्मों में महंगी गाड़ियों को तोड़ने के लिए जाने जाते हैं लेकिन इस फिल्म में उन्होंने बहुत कम गाड़ियों को तोडा-फोड़ा है और शायद ज़रूरत भी नहीं थी क्यूंकि दर्शकों को लुभाने की वो ट्रिक अब पुरानी हो चुकी है शायद इसलिए सोशल इशू का सहर रोहित शेट्टी ने लिया है.

ज़बरदस्त रहा रणवीर का सिम्बा अवतार, हिट रहा सारा का दूसरा रोल

फिल्म में रणवीर सिम्बा के किरदार के साथ पूरी तरह जस्टिस करते नज़र आते हैं. कहानीकार और डायलॉग राइटर ने सिम्बा के लिए रणवीर के स्टाइल को ध्यान में रखकर ही काम किया है. रणवीर अपनी पुरानी फिल्मों में सीरियस और कॉमेडी रिएक्शन का मेलजोल बेहतरीन तरीके से दिखाते आये हैं और वही उन्होंने ने इस फिल्म में भी किया है. इसके अलावा फिल्म में उनकी प्रेमिका बनी हैं सारा अली खान. सारा की ये दूसरी फिल्म है जिसमें सारा ने अपने रोल के हिसाब से बेस्ट अभिनय किया है.

काश! फिल्म में उनके लिए कोई मजबूत किरदार होता तो उनके अभिनय को ज्यादा अच्छे से जज किया जा सकता था. फिल्म में आशुतोष राणा के लिए एक ईमानदार पुलिसवाले का रोल दिया गया है जिसे उन्होंने बखूबी निभाया है. इसके अलावा कॉमेडी के तड़के के लिए सिम्बा के साथी पुलिसवालों में सिद्धार्थ जावडे, विजय पाटकर जैसे को-एक्टर अपना बेस्ट देते नज़र आये हैं.

कुल मिलकर एक्टर्स के लिहाज़ा से फिल्म दमदार नज़र आती है. इसके साथ ही फिल्म के गाने ‘आँख मारे …’ में तुषार कपूर, रितेश देशमुख, कुनाल खेमू, अरशद वारसी, श्रेयस तलपडे और करण जोहर कैमिया रोल करते नज़र आते हैं.

80 करोड़ की लागत से बनी फिल्म सिम्बा अब बड़े परदे पर रिलीज़ हो चुकी है. फिल्म का प्रोडक्शन रोहित शेट्टी और करण जोहर ने मिलकर किया है. फिल्म में सोशल मैसेज भी है जो फिल्म के क्लाइमेक्स में आपको सोचने के लिए मजबूर ज़रूर कर देगा. तो इस वीकेंड सिम्बा आपके लिए एक बेहतरीन आप्शन हो सकता है फैमिली या दोस्तों के साथ एक अच्छा समय बिताने के लिये.

Facebook Comments