SBI उपभोक्ता ध्यान दें, 12 नवंबर से बंद हो सकती है आपको मिलने वाली ये सेवा

अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक हैं, तो ये खबर आपके लिए बहुत जरूरी है. एसबीआई अपनी एक और सर्विस बंद करने जा रहा है. जिसके तहत 12 दिसंबर के बाद आपकी चेकबुक बेकार हो जाएगी.

नॉन सीटीएस चेकबुक नहीं चलेगी

जी हां, आरबीआई ने नए निर्देश जारी किए हैं, जिसके मुताबिक अगर आपकी चेकबुक नॉन सीटीएस है तो वह 12 दिसंबर के बाद बेकार हो जाएगी. इस संबंधी एसबीआई ने ग्राहकों को मैसेज भेजने भी शुरू कर दिए हैं.

क्या होती हैं सीटीएस चेकबुक

सीटीएस देशभर में बैंकों द्वारा जारी किए जाने वाले चेक का मानक रूप है. सीटीएस 2010 की सबसे बड़ी खासियत है कि इनको भुनाने (क्लीयरेंस) की प्रक्रिया इलेक्ट्रानिक होगी. तस्वीर आधारित इस नए तरह के चेक व इसमें उपलब्ध मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रिकॉग्निशन (एमआईसीआर) को एक बैंंक इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली से निकासी के लिए दूसरे बैंक के सिस्टम को भेजेगा और जैसे ही पुष्टि होगी, राशि आपके खाते में आ जाएगी. चेक भौतिक रूप से कहीं नहीं जाएगा, इसलिए दूसरे बैंक के चेक से भी उसी दिन राशि आपके खाते में आ सकती है. सीटीएस चेक में सुरक्षा को देखते हुए कई तरह के बदलाव किए गए हैं. इसका कागज अलग तरह का है. साथ ही वाटरमार्क न दिखने वाली स्याही और बैंक का लोगो भी होगा. यदि कोई चेक से छेड़छाड़ करेगा तो आसानी से पकड़ में आ जाएगा. इसमें हस्ताक्षर करने का खास स्थान है.

बताया जा रहा है कि पुरानी चेकबुक सेरेंडर करवाकर नई चेकबुक जारी की जाएंगी. बता दें कि आरबीआई ने करीब 3 माह पहले बैंकों को निर्देश देते हुए कहा था कि 1 जनवरी 2019 से नॉन सीटीएस चेक बुक का प्रयोग पूरी तरह से बंद करें. आरबीआई के निर्देश का पालन करते हुए बैंक ऐसे चेक को लेना पूरी तरह से बंद करने जा रहे हैं.

Facebook Comments