सावधान! कोई कर न दे आपका अकाउंट खाली!

7

अगर ऑनलाइन लेन-देन आपकी आदत बन चुका है और आप कैश से ज्यादा कैशलेस होते जा रहे हैं तो आपके लिए स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने चिंता ज़ाहिर की है. घबराइए मत! आप कुछ गलत नहीं कर रहे हैं बल्कि वो सिर्फ आपको धोखेबाजी से बचने के तरीके बता रहे हैं क्यूंकि ये आप भी जानते हैं कि इन्टरनेट पर जितनी सुविधाएँ हैं उतनी ही धोखेबाजी भी है. देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों को चेतावनी दी है. SBI ने कहा है कि बढ़ती फ्रॉड की घटनाओं के बीच ग्राहकों को सावधान रहने की जरूरत है. स्टेट बैंक ने अलर्ट किया है कि त्योहारी सीजन में ग्राहक ऐसी गलती बिल्कुल न करें, जिससे उनका बैंक अकाउंट खाली हो जाएं. SBI ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए ग्राहकों को सेफ बैंकिंग के टिप्स दिए हैं और बताया है कि कौन सी 4 गलतियां नहीं करनी हैं.

पब्लिक इंटरनेट से न करें ऑनलाइन ट्रांजेक्शन

स्टेट बैंक ने ट्विटर पर एक Gif इमेज डाली है. इसमें बताया गया है कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं. SBI के मुताबिक, ग्राहकों को पब्लिक डिवाइस, ओपन नेटवर्क और फ्री वाई-फाई जोन से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन नहीं करने चाहिए. बैंक के मुताबिक, पब्लिक डिवाइस का इस्तेमाल करने से ग्राहक की निजी जानकारी लीक होने का खतरा रहता है.

OTP, PIN, CVV, UPI पिन न करें शेयर

स्टेट बैंक के मुताबिक, दूसरे टिप्स यह है कि कभी किसी को अपना OTP (वन टाइम पासवर्ड), पिन नंबर, डेबिट या क्रेडिट कार्ड का CVV नंबर को न बताएं. बैंक के मुताबिक, ज्यादातर फ्रॉड इसी तरह किए जाते हैं. फोन कॉल पर बैंक का नाम लेकर आपके कार्ड को ब्लॉक करने की चेतावनी देते हैं और पासवर्ड बदलने के लिए आपसे ओटीपी या कार्ड के पीछे लिखा CVV नंबर मांगते हैं. ऐसी धोखाधड़ी से सावधान रहें.

बैंक अकाउंट की जानकारी फोन में सेव न करें

स्टेट बैंक का कहना है कि कभी भी अपने बैंक अकाउंट या ऑनलाइन बैंकिंग की जानकारी को फोन में सेव करके नहीं रखना चाहिए. बैंक ने कहा है कि बैंक अकाउंट नंबर, पासवर्ड, एटीएम कार्ड का नंबर या फिर इसकी तस्वीर खींचकर रखने से भी आपकी जानकारी लीक होने का खतरा रहता है.

ATM कार्ड या कार्ड डिटेल्स न करें शेयर

SBI के मुताबिक, अपने एटीएम का इस्तेमाल खुद ही करना चाहिए. दूसरे से अपना एटीएम या कोई भी कार्ड इस्तेमाल नहीं कराना चाहिए. इसके अलावा कार्ड की डिटेल्स को भी किसी से शेयर नहीं करना चाहिए. ऐसा करने पर आपके अकाउंट की जानकारी लीक हो सकती है. साथ ही बिना इजाजत लेन-देन हो सकता है.

बैंक कभी नहीं मांगता ये जानकारी

SBI ने अपने ट्विटर अकाउंट पर यह जानकारी भी साझा की है कि वह अपने ग्राहकों से कभी भी यूजर आईडी, पिन, पासवर्ड, सीवीवी, ओटीपी, वीपीए (यूपीआई) जैसी संवेदनशील जानकारी नहीं मांगता है. ऐसे में हर ट्रांजेक्शन करते वक्त इन बातों का ख्याल रखें.

Facebook Comments