काबुल में आत्मघाती हमलावर ने शिया छात्रों को निशाना बनाया, 48 की मौत

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार आत्मघाती बम हमलावर ने एक शिया बहुल इलाके में विश्वविद्यालय परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को निशाना बनाकर हमला किया। इस हमले में कम से कम 48 लोगों की मौत हो गई और 67 लोग घायल हो गए। इस हमले के लिए इस्लामिक स्टेट समूह को जिम्मेदार बताया जा रहा है। अफगानिस्तान के शिया समुदाय पर हाल में किया गया यह सबसे भीषण हमला है। बता दें कि अफगानिस्तान में इस हफ्ते तालिबान ने भी सैकड़ों पुलिसवालों और आम लोगों की जान ली है।

हमलावर ने काबुल के दश्त-ए-बारचा इलाके में एक निजी इमारत के अंदर खुद को उड़ा लिया, जहां शिया समुदाय के बच्चे पढ़ रहे थे। ये सभी बच्चे यूनिवर्सिटी एग्जाम की तैयारी कर रहे थे। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाजिद मजरोह ने कहा कि अभी तक घायलों की सही संख्या का पता नहीं लग पाया है और मरने वालों का आंकड़ा भी बढ़ सकता है। मरने वालों में कुछ शिक्षक भी शामिल हैं।

अधिकारियों ने बताया कि सिर्फ एक हमलावर के होने की पुष्टि हुई है। हालांकि, किसी भी समूह ने इस हमले की अभी तक जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन स्थानीय शिया समुदाय के लोगों का कहना है कि इससे पहले ऐसे हमलों की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ले चुका है। आईएस शिया मस्जिद, स्कूल और कल्चरल सेंटर्स पर हमले कर चुका है। दूसरी तरफ तालिबान के प्रवक्ता ज़बीहुल्ला मुजाहिद ने इस हमले में अपनी भूमिका से इनकार किया है।

Facebook Comments