पाकिस्तान सेना आलोचक महिला पत्रकार का हुआ अपहरण

पाकिस्तान सेना की आलोचना करने के लिए प्रसिद्ध 52 साल की पत्रकार और कार्यकर्ता गुल बुखारी का कुछ अज्ञात लोगों ने कथित रूप से अपहरण कर लिया। इसे लेकर सोशल मीडिया पर खूब हो-हल्ला मचा, जहां लोगों ने इसके लिए खुफिया एजेंसियों को जिम्मेदार बताया।हालांकि इसके कुछ घंटों बाद वह घर वापस लौट आईं।

वहीं, इससे पहले पाकिस्तान के दो वरिष्ठ पत्रकारों उमर अली औऱ सईद शाह ने भी गुल बुखारी के अचानक गायब हो जाने को लेकर ट्वीट किया था। उमर अली ने ट्वीट किया था कि गुलबुखारी जब एक टीवी कार्यक्रम में शामिल होनी जा रहीं थी तो उन्हें जबरदस्ती उठा लिया गया। गुब बुखारी सेना के पाकिस्तानी राजनीति में हस्तक्षेप करने की अलोचक रही हैं।

उन्होंने पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के संस्थापक नवाज शरीफ का भी बचाव किया है, जिनका सेना के साथ टकराव है। बुखारी के पति अली नादिर बुखारी ने बताया कि वह मंगलवार की शाम वक्त न्यूज के लेट नाइट कार्यक्रम को रिकॉर्ड करा कर घर आ रही थीं। इसी दौरान लाहौर के छावनी क्षेत्र में उनके वाहन को रोका गया और उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

Facebook Comments