Home दुनिया यूएन से राजदूत निक्की हेली का इस्तीफ़ा, ट्रम्प ने पहले ही दिया था इशारा  

यूएन से राजदूत निक्की हेली का इस्तीफ़ा, ट्रम्प ने पहले ही दिया था इशारा  

36 second read
0
0
97

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने इस्तीफा दे दिया। अमेरिकी मीडिया के मुताबिक, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इसे स्वीकार भी कर लिया। साउथ कैरोलिना की गवर्नर रहीं हेली का इस्तीफा ट्रम्प प्रशासन के लिए चौंकाने वाला रहा। वहीं, व्हाइट हाउस की तरफ से किसी भी तरह का खुलासा नहीं किया गया है। हालांकि ये बताया जा रहा है कि ट्रम्प बुधवार को हेली से मुलाकात कर सकते हैं।

निक्की हेली को जनवरी 2017 में यूएन में अमेरिका का दूत बनाया गया था। ट्रम्प ने ट्वीट करके बताया कि मेरी राजदूत दोस्त की तरफ से बड़ा ऐलान होने वाला है।

हेली के इस्तीफे के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बयान आ गया है. ट्रंप ने कहा कि निक्की हेली ने शानदार काम किया. वह ब्रेक लेने के लिए साल के अंत में अपना पद छोड़ देंगी.

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की स्थायी प्रतिनिधि बनने से पहले हेली साउथ कारोलिना की गवर्नर थीं. वह इस पद पर पहुंचने वाली देश की पहली महिला भी थीं. वह 2014 में फिर से साउथ कारोलिना की गवर्नर चुनी गईं.अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है. पिछले कुछ समय से राष्ट्रपति ट्रंप के करीबियों का इस्तीफा देने का सिलसिला जारी है.

सितंबर में ट्रंप को देश के लिए “शर्मनाक” बताने वाले एक प्रतिष्ठित एडमिरल (सेवानिवृत्त) एडमिरल विलियम मैकरावेन ने रक्षा मंत्रालय सलाहकार निकाय से इस्तीफा दे दिया था. मैकरावेन ने अगस्त में डिफेंस इनोवेशन बोर्ड से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने 2014 में पाकिस्तान में विशेष अभियान चलाकर अल-कायदा के सरगना ओसामा बिन लादेन को मारने वाली स्पेशल फोर्सेज का संचालन किया था.

जून में एस्टोनिया में अमेरिकी राजदूत जेम्स डी. मेलविले जूनियर ने भी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की टिप्पणियों से निराश होकर इस्तीफा दे दिया था. जेम्स तब 2018 में राज्य विभाग को जल्दी छोड़ने वाले तीसरे एंबेसडर बने.

 

Load More Related Articles
Load More By Tushar Kaushik
Load More In दुनिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बीजेपी के लिए बुरा दिन, काम नहीं आये अली या बजरंगवली!

मध्य प्रदेश – 230/230 || कांग्रेस- 110    || बीजेपी- 110     || अन्य- 10 राजस्थान – 199/20…