Home टेक्नोलॉजी चीन ने किया खास लेजर गन का निर्माण, जानें क्यों अमेरिका समेत दुनिया हैरान

चीन ने किया खास लेजर गन का निर्माण, जानें क्यों अमेरिका समेत दुनिया हैरान

2 second read
Comments Off on चीन ने किया खास लेजर गन का निर्माण, जानें क्यों अमेरिका समेत दुनिया हैरान
0
186

चीन नई-नई तकनीकों का आविष्कार करके हमेशा चर्चा में बना रहता हैं। अब चीन की चर्चा का विषय जो उभरकर सामने आ रहा हैं, वो यह हैं कि चीन ने हाल ही में एक लेजर वाली राइफल का निर्माण किया हैं। इसकी खूबियां जानकर अमेरिका सहित पूरी दुनिया के होश उड़ने वाले हैं। इसे जेडकेजेडएम-500 नाम दिया गया है हालांकि, आम बोलचाल में इसे एके-47 कहा जा रहा है। इससे एक किलोमीटर दूर तक फायर किया जा सकता है। यह दो सेकंड में एक हजार राउंड फायर कर सकती है।

इसकी सबसे बड़ी खूबी यह है कि इसमें सामान्य राइफलों से अलग गोली की जगह ‘एनर्जी बीम’ निकलती है, जो किसी भी व्यक्ति के कपड़े और त्वचा को एक किमी दूर से जला सकती है। यह ‘एनर्जी बीम’ कांच की खिड़की को भी पार कर लक्ष्य तक पहुंचने में सक्षम है।इसे बनाने वालों का दावा है कि यह राइफल न तो आवाज करती है और न ही इससे निकलने वाली ‘एनर्जी बीम’ को नंगी आंखों से देखा जा सकता है।

बता दें, 15 एमएम कैलिबर वाली इस बंदूक का वजन 3 किलो है। इसे कार, नाव या विमान में लगाया जा सकता है। पहली खेप आते ही इसे चीन पुलिस की एंटी-टेररिज्म स्क्वॉड में शामिल किया जाएगा। अफसरों का कहना है कि लोगों को बंधक बनाने वाले आतंकियों से मुकाबला करने में यह काफी कारगर होगी। इससे बंद कमरे के बाहर से ही आतंकी को जख्मी कर लोगों को बचाया जा सकता है। इसका इस्तेमाल मिलिट्री ऑपरेशन में भी किया जाएगा। इससे मिलिट्री एयरपोर्ट पर तेल भंडार को भी जलाकर नष्ट किया जा सकता है।

गौरतलब हैं लेजर राइफल को रिचार्ज किया जा सकेगा। इसमें मोबाइल की तरह ड्राय बैटरी लगी है। चीन की कंपनी ने फिलहाल इस राइफल का प्रोटोटाइप मॉडल बनाया है। इसकी लागत 15 हजार डॉलर (करीब 10 लाख 30 हजार रुपए) है। बड़ी संख्या में बनाने के लिए कंपनी डिफेंस पार्टनर की तलाश कर रही है।

Load More Related Articles
Load More By Swentoday News
Load More In टेक्नोलॉजी
Comments are closed.

Check Also

रायबरेली: न्यू फरक्का एक्सप्रेस की 6 बोगियां पटरी से उतरीं

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में बुधवार तड़के न्यू फरक्का एक्सप्रेस की 6 बोगियां पटरी से उतर ग…