Home क्रिकेट सचिन से पहले- राहुल द्रविड़ को ‘आईसीसी हॉल ऑफ फेम’ सम्मान

सचिन से पहले- राहुल द्रविड़ को ‘आईसीसी हॉल ऑफ फेम’ सम्मान

3 second read

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और ‘द वॉल’ के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ को इंटरनैशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने हॉल ऑफ फेम से सम्मानति किया है। भारतीय जूनियर टीम कोच द्रविड़ यह सम्मान पाने वाले 5वें भारतीय क्रिकेटर हैं। आईसीसी ने आयरलैंड के डबलिन में आयोजित समारोह में राहुल द्रविड़ के नाम की घोषणा की। द्रविड़ के साथ ही पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग (1995-2012) और इंग्लैंड की पूर्व महिला क्रिकेटर क्लेयर टेलर (1998-2011) को भी हॉल ऑफ में जगह दी गई है।

कोचिंग प्रतिबद्धताओं के चलते राहुल द्रविड़ अवॉर्ड सेरिमनी में नहीं पहुंच पाए थे। उन्होंने विडियो संदेश के जरिए आईसीसी के प्रति आभार जताया। उन्होंने कहा, ‘हॉल ऑफ फेम में शामिल होना सम्मान और गर्व की बात है। सम्मानित वर्ग में शामिल करने के लिए मैं आईसीसी का शुक्रियाअदा करता हूं। मैंने जिन्हें अपना आइडल माना उनके साथ इस सम्मानित लिस्ट में शामिल किया जाना सौभाग्या की बात है।

उन्होंने कोचों और फैमिली को धन्यवाद देते हुए कहा, ‘मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने मेरे खेल में योगदान दिया। बचपन से लेकर भारत के लिए खेलने के दौरान विभिन्न कोचों ने मेरे खेल को ऊंचाइयां दीं। मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करता हूं। माता-पिता, फैमिली पत्नी और दोनों बच्चों, अपने बहुत सारे दोस्तों और जिन खिलाड़ियों के साथ और जिनके खिलाफ मैंने क्रिकेट खेली, जिन्होंने मेरे खेल को मजबूत किया उन सभी का शुक्रिया।’ इस दौरान उन्होंने अवॉर्ड सेरिमनी में नहीं पहुंच पाने पर दुख भी जताया।

बने 5वें भारतीय
द्रविड़ से पहले यह सम्मान अनिल कुंबले (2015) को मिला था। उनसे पहले 2009 में बिशन सिंह बेदी, कपिल देव और सुनील गावसकर को एक ही साथ हॉल ऑफ फेम से सम्मानित किया गया था। बता दें कि राहुल द्रविड़ को ऑलटाइम बेस्ट टेस्ट क्रिकेटरों में शामिल किया जाता है। फिलहाल वह भारत में युवा खिलाड़ियों को तराशने का काम कर रहे हैं। उनकी कोचिंग में ही भारत ने इसी साल अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता था।

द्रविड़ का करियर
द वॉल (1996- 2012) ने टेस्ट करियर के दौरान 13,288 रन बनाए। उन्होंने टेस्ट में 36 शतक और 63 अर्धशतक लगाए। इसमें 5 बार दोहरा शतक भी शामिल है। टेस्ट में सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में सचिन तेंडुलकर (15921), रिकी पोंटिंग (13378) और जैक कैलिस (13289) के बाद चौथे नंबर पर हैं। वनडे की बात करें तो 344 मुकाबले खेले और 10,889 रन बनाए। उनके नाम वनडे में 12 सेंचुरी और 83 हाफ सेंचुरी दर्ज हैं।

अब तक 87 को हॉल ऑफ फेम
हॉल ऑफ फेम सम्मान पाने वाले खिलाड़ियों की संख्या 87 हो गई है। इसमें 80 पुरुष और 7 महिला क्रिकेटर हैं। देश की बात करें तो यह सम्मान सबसे अधिक इंग्लैंड (28) के खिलाड़ियों को मिला है। इस सम्मानित लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया (25), वेस्ट इंडीज(18), पाकिस्तान (5), भारत (5), न्यू जीलैंड (3), दक्षिण अफ्रीका (2) और श्री लंका का एक खिलाड़ी शामिल है। बता दें कि इस सम्मान की शुरुआत 2009 में हुई थी।

Load More Related Articles
Load More By SwenToday News Desk
Load More In क्रिकेट
Comments are closed.

Check Also

ENGvsIND: 2nd ODI में एमएस धौनी के साथ हुई थी ये शर्मनाक हरकत

टीम इंडिया के स्टार क्रिकेटर महेंद्र सिंह धौनी की काफी रिस्पेक्ट की जाती है, इसके अलावा भा…