Home कारोबार जॉन्सन कंपनी को केस में मिली हार, इस पीड़ित को देगी सैकड़ों करोड़ों का मुआवजा

जॉन्सन कंपनी को केस में मिली हार, इस पीड़ित को देगी सैकड़ों करोड़ों का मुआवजा

0 second read
johnson baby powder cancer

बेबी केयर मार्केट में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी जॉन्सन एंड जॉन्सन को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है। यह मशहूर कंपनी अपना सातवां केस भी हार गई है। एक अमेरिकी कोर्ट ने उसे ग्राहक को 760 करोड़ मुआवजा देने का आदेश दिया है। बता दे, निचली अदालत ने कंपनी पर 240 करोड़ का मुआवजा लगाया था और वही, अमेरिकी कोर्ट ने तीन गुना बढ़ाकर 760 करोड़ रुपये कर दिया। न्यूजर्सी के 46 वर्षीय इन्वेस्टमेंट बैंकर स्टीफन लैंजो और उनकी पत्नी केंड्रा ने कंपनी पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके प्रोडक्ट से उन्हें मेसोथेलियोमा हुआ है।

मेसोथेलियोमा एक तरह का कैंसर है जो ऊतक, फेफड़ों, पेट, दिल और अन्य अंगों को प्रभावित करता है। कंपनी के बेबी पाउडर में एसबेस्टस होने की वजह से मेसोथेलियोमा होने का कंपनी के 120 साल के इतिहास में यह पहला मामला है। इस साल जनवरी में दर्ज केस में लैंजो ने आरोप लगाए थे कि वे 30 साल से कंपनी का बेबी पाउडर इस्तेमाल कर रहे हैं। इसमें एसबेस्टस होने की वजह से उन्हें मेसोथेलियोमा हो गया है।

लैंजो ने कहा कि वह तीस सालों से कंपनी का बेबी पाउडर इस्तेमाल कर रहे हैं जिस कारण उन्हें ये बीमारी हुई। इस पर कंपनी ने अपनी दलील में कहा कि लैंजो जिस घर में रहते हैं उसके बेस्मेंट के पाइप में एसबेस्टस लगा है।साथ ही यह भी कहा कि लैंजो ने जिस स्कूल से पढ़ाई की वहां भी एसबेस्टस था। लेकिन कोर्ट ने कंपनी की कोई दलील न सुनते हुए मुआवजे की रकम तीन गुना बढ़ा दी। रकम का 70 फीसदी जॉन्सन एंड जॉन्सन कंपनी देगी और बाकी का 30 फीसदी पाउडर सप्लाई करने वाली कंपनी इमेरीज टैल्क देगी। हालांकि दोनों ही कंपनियों ने कोर्ट के इस फैसले को चनौती देने की बात कही है।

Load More Related Articles
Load More By Varsha Yadav
Load More In कारोबार
Comments are closed.

Check Also

इस शख्श ने कहा- सिख जत्थे के साथ पाकिस्तान गई, होशियारपुर महिला किरण बाला मामले की होगी जांच

भारत के पंजाब से लेकर पाकिस्तान के पंजाब तक इन दिनों किरन बाला की चर्चा बेहद ही जोरो- शोरो…