Home लाइफ स्टाइल खुद पर हंसना, मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

खुद पर हंसना, मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

0 second read

एक रिसर्च में ये दावा किया गया है कि, जो लोग खुद पर हंसते है स्वंय को खुश रखते है, अक्सर देखा गया है की खुद पर चुटकुले कहने वाले लोगों और खुद पर हंसने वालों के मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य का स्तर काफी अच्छा रहता है, यह एक किताब में प्रकाशित हुआ है।

Related image

दरअसल, अब तक कई सारे अध्ययनों में यह कहा गया था कि खुद पर चुटकुले कहना लोगों के बीच नकारात्मक मनोवैज्ञानिक प्रभावों से विशेष रूप से संबद्ध है जो हमेशा ही इस शैली का इस्तेमाल करते हैं,

इस अध्ययन के नतीजे अविरोधी हैं, जो बताते हैं कि हमारे देश में खुद पर हंसना पारंपरिक रूप से सकारात्मक संकेत का उत्तरदायी है, हालांकि अध्ययन के नतीजे इस बात की ओर भी इशारे करते हैं कि खुद पर हंसने को लेकर की गई रिसर्च कहां पर हुई है, इसको लेकर भी नतीजे में बदलाव हो सकता है।’ दरअसल, खुद पर चुटकुले कहना गुस्से को दबाने की व्यापक प्रवृत्ति माना जाता है।

Load More Related Articles
Load More By Juhi Shagufta
Load More In लाइफ स्टाइल
Comments are closed.

Check Also

दिवालिया होने की कगार पर एयरसेल, क्यों बंद हो रही है 400 करोड़ रुपये कमाने वाली कंपनी

टेलीकॉम कंपनी एयरसेल दिवालिया होने की कगार पर है, एक खबर के मुताबिक कंपनी नेशनल कंपनी लॉ ट…