Home बॉलीवुड बर्थडे स्पेशलः कैसे पाया हेमा मालिनी ने ’ड्रीर्म गर्ल’ का खूबसूरत खिताब ?

बर्थडे स्पेशलः कैसे पाया हेमा मालिनी ने ’ड्रीर्म गर्ल’ का खूबसूरत खिताब ?

0 second read
DREAM GIRL

बॉलीवुड दुनिया में कई ऐसी खूबसूरत हसीनाएं है..जिनकी खूबसूरती में चार चांद तो है…लेकिन अभी तक उनकी खूबसूरती में पांचवे चांद की कमी है…लेकिन हम आपको एक ऐसी अदाकारा से रूबरू करवाना चाहते है…जिसकी खूबसूरती आज भी करोड़ों हसीनाओं को फेल कर दें….साथ ही जिसकी चांद जैसी खूबसरूती और दिलकश अदाओं ने उस अदाकारा को अभी तक ब-टाउन की दुनिया के ’डीर्म गर्ल’ के खिताब से नवाज रखा है। जी हां हम बात कर रह है हेमा मालिनी…जो आज अपना 69वां जन्मदिन अपने देओल परिवार के साथ मना रही है। तो चलिए आज के इस ख़ास मौके को और भी ज्यादा ख़ास मानते है..उनकी फिल्मी करियर की बेहतरीन यादों को फिर से ताज़ा कर आपको उसे रूबरू करवाते है।

हेमा मालिनी ने अपने फिल्मी करियर में कई सुपरहिट फिल्में दी हैं लेकिन शुरूआत में हेमा को भी कुछ ऐसे दिन देखने पड़े थे…जब फिल्ममेकर उन्हें ये तक कह देते थें कि उनमें स्टार बनने जैसा कुछ भी ख़सियत नहीं है। 1963 में हेमा ने तमिल फिल्म ’इथू साथियम ’में अभिनय करके अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थीं। लेकिन बॉलीवुड की दुनिया में हेमा ने सन् 1968 फिल्म ’सपनों का सौदागर’ में राज कपूर के साथ अहम किरदार निभाकर बॉलीवुड इं्डस्ट्री में अपना पहला कदम रखा था। इस फिल्म में उनका किरदार दर्शकों को इतना पसंद आया कि उन्होंने हेमा मालिनी को ’ड्रीर्म गर्ल’ के नाम से नवाज दिया। इसके बाद से हर किसी के जुबान पर हेमा नहीं बल्कि ड्रीर्म गर्ल का नाम सुनें को मिलता रहा। 1970 में ड्रीर्म गर्ल ने फिल्म ’जॉनी मेरा नाम’ जैसी सफल फिल्में भी की…आपको बता दें कि उस दौर में उन्होंने बहुत से ऐसे किरदार किए जो उनके लिए किसी चुनौती से कम नहीं थे। सन् 1971 में आई फिल्म ’अंदाज़’ में हेमा का विधवा किरदार और फिल्म ’लाल पत्थर ’में एक गरीब महिला का किरदार जो उनके जीवन के चनौतीपूर्ण किरदारों में से एक रह चुका है। सन् 1972 में आई फिल्म ’सीता और गीता’ में हेमा ने एक्ट्रर धर्मेन्द्र और संजीव कपूर के साथ काम किया था…इस फिल्म को भी दर्शकों से काफी प्यार मिला था। आपको बता दें कि इस फिल्म के लिए हेमा को फिल्मफेयर के बेस्ट एक्ट्रेस अवार्ड से नवाजा जा चुका है साथ ही डेब्यू करने के चार साल बाद हेमा को अहम अभिनेत्रियों की सबसे सफल लिस्ट में शामिल किया जा चुका है। फिल्म ’शोले’ में हेमा बसंती के किरदार से दर्शकों में काफी मशहूर हुई…साथ ही इस फिल्म में वीरू और बसंती की जोड़ी को दर्शकों ने काफी प्यार भी दिया। आपको बता दें कि यहीं से धमेंद्र और हेमा की प्यार भरी कहानी की शुरूआत होने लगी थी। धमेंद्र…हेमा के साथ किए रोल को एक बार नहीं बाल्कि कई रिट्रेक लेकर करते थे….जिससे की वो ज्यादा समय हेमा के साथ बीता सकें। इसके बाद उनकी फिल्मों का सफर काफी खूबसूरत होने लगा…उन्होंने फिल्म क्रांति, नसीब, सत्ते पे सत्ता, तूफ़ान, दुगा, रामकली, सीतापुर की गीता, एक चादर मैली सी, रिहाई और जमाई राजा जैसी फिल्मों में काम कर दर्शकों से खूब प्यार बठौरा है।

2000 में, हेमा मालिनी को फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड और भारत सरकार की तरफ से पù श्री अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। 2012 में पदम्पत सिंघानिया यूनिवर्सिटी ने हिंदी सिनेमा में उनके योगदान के लिए डॉक्टरेट की उपाधि से भी नवाजा जा चुका है। हम आपको बता दें कि हेमा नेशनल फिल्म डेवलपमेंट कारपोरेशन की चेयरपर्सन भी बन चुकी है। 2006 में उन्हें भारतीय सिनेमा, भारतीय संस्कृति और नृत्य में अपने अतुल्य योगदान के लिए दिल्ली में भजन सोपोरी की तरफ से सामापा वितस्ता अवार्ड से नवाजा जा चुका है। फिलहाल तो पूरा बॉलीवुड उन्हें अपने अंदाज में बर्थडे विश कर रहा है…वहीं उनके फैंस भी ड्रीर्म गर्ल के इस ख़ास मौके पर बधाइयां भेज रह है।

Load More Related Articles
Load More By SwenToday News Desk
Load More In बॉलीवुड
Comments are closed.

Check Also

स्मृति स्थल पर अटल जी का अंतिम संस्कार, बेटी नमिता ने दी मुखाग्नि

16:56(IST) अंतिम संस्कार अटल जी की दत्तक पुत्री नमिता भट्टाचार्य कर रही हैं. The last rite…